राज्य ब्यूरो, रांची : झारखंड में मंगलवार और बुधवार राजभवन के लिए खास दिन था। झारखंड गठन के बाद पहली बार यहां किसी प्रधानमंत्री ने रात्रि विश्राम किया था। सो, राजभवन के अंदर से लेकर बाहर जहां चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा थी, वहीं पास की सड़कों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बस एक झलक निहारने को हुजूम उमड़ पड़ी थी। बुधवार को सुबह में भी राजभवन और राजभवन के बाहर कुछ ऐसा ही नजारा था।

मोदी तो राजभवन में ठहरे थे, लेकिन बाहर उनके इंतजार में 'मोदी-मोदी' का नारा लगातार लग रहा था। वे 14 घंटे पांच मिनट राजभवन में रहे। प्रधानमंत्री हर रोज की तरह बुधवार को भी सुबह चार बजे उठ गए। इसके बाद फ्रेश होकर योगाभ्यास किया। राजभवन स्थित उनके कमरे में इसके लिए विशेष इंतजाम किए गए थे।

मोदी हल्की आवाज में म्यूजिक सुनते हुए योगाभ्यास करते हैं। इसके बाद उन्होंने चाय भी पी। इस बीच प्रधानमंत्री के कमरे में सभी हिन्दी और अंग्रेजी अखबार पहुंचा दिए गए। उन्होंने बारी-बारी से सभी अखबारों को पढ़ा। इस बीच वे अपने कमरे से ही राजभवन के बागों का नजारा भी लेते रहे। इसके बाद उन्होंने स्नान किया।

नाश्ते में उपमा, नारियल पानी और फलाहार प्रधानमंत्री ने ब्रेकफास्ट में नारियल पानी, उपमा और फलाहार लिया। उनके लिए सूजी की इडली, प्लेन डोसा का भी इंतजाम किया था। उन्होंने इडली भी चखा। प्रधानमंत्री के लिए दोपहर का भोजन राजभवन में ही तैयार किया गया। उसे पैक कर लोहरदगा ले जाया गया। लंच में चावल, दाल, रोटी, कद्दू की सब्जी, भिंडी का भुजिया के अलावा कुछ गुजराती व्यंजन भी था।

राजभवन के कुक ने ही प्रधानमंत्री के लिए ब्रेकफास्ट तथा लंच तैयार किया। पीएमओ के अधिकारियों के निर्देश पर सभी कुछ बिना मसाला और तेल का व्यंजन बना था। परोसे जाने के पहले खाद्य विश्लेषकों ने सारे सैंपल और खाद्य पदार्थो की जांच भी की। प्रधानमंत्री के ब्रेकफास्ट के बाद राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने उन्हें मोमेंटो व शॉल देकर सम्मानित किया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने वहां उपस्थित सभी पदाधिकारियों के साथ फोटो भी खिंचवाया। राजभवन की आवभगत से प्रधानमंत्री काफी खुश थे।

निर्धारित समय से 25 मिनट देर निकले प्रधानमंत्री को राजभवन से सुबह 9.55 बजे एयरपोर्ट के लिए निकलना था। लेकिन वे सुबह 10.20 बजे राजभवन से निकले। इस बीच नागा बाबा खटाल, सीसीएल मुख्यालय, मछलीघर, सूचना भवन चौक के आसपास लोग प्रधानमंत्री का बेसब्री से इंतजार करते रहे। प्रधानमंत्री के काफिला निकलने के बाद मोदी-मोदी के नारे तेज हो गए। प्रधानमंत्री भी हाथ हिलाकर सभी का अभिवादन करते हुए आगे निकल गए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस