रांची, जासं। झारखंड से मानसून की वापसी सोमवार को ही हो गई और यह आकलन से एक दिन पूर्व हुई है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार झारखंड से मानसून की वापसी की संभावित निर्धारित तिथि 15 अक्टूबर थी। मौसम विभाग के निदेशक डॉ. एसडी कोटाल ने बताया कि राजस्थान में मानसून की वापसी नौ अक्टूबर को ही हो गई थी। अब दक्षिण-पश्चिमी मानसून खत्म हो चुका है।

डॉ. कोटाल ने बताया कि झारखंड में जून माह में सामान्य बारिश से 55 फीसद कम, जुलाई में 25 फीसद कम और अगस्त में 13 फीसद कम वर्षा हुई। जबकि, सितंबर माह में सामान्य से 13 फीसद अधिक बारिश हुई। हालांकि, एक जून से 30 सितंबर तक राज्य में सामान्य (1054.7 मिमी.) की तुलना में 19 फीसद कम बारिश (858.9 मिमी.) दर्ज की गई। बताया कि 24 जिलों में सबसे खराब स्थिति गढ़वा की रही। इस जिले में सामान्य (946.7 मिमी.) की तुलना में 52 फीसद कम बारिश (450 मिमी.) दर्ज की गई।

रांची में सामान्य (1074.6 मिमी.) की तुलना में 29 फीसद कम बारिश (760.9 मिमी.) हुई। साहिबगंज में सबसे अच्छी बारिश हुई। इस जिले में सामान्य (1301.3 मिमी.) की तुलना में 46 फीसद अधिक बारिश (1893.6 मिमी.) हुई। उन्होंने बताया कि राज्य के 13 जिलों में बारिश की स्थिति सामान्य रही। जबकि, 10 जिलों में सामान्य की तुलना में कम बारिश हुई। बताया कि मौसम विज्ञान की भाषा में एक जून से 30 सितंबर तक ही मानसून की समयावधि निर्धारित है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप