रांची : मांडर के गड़मी गांव निवासी अपहृत 14 वर्षीय राहुल टोप्पो का बड़ा भाई संजू टोप्पो शुक्रवार को ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग से मिला। इसके बाद संजू को भाई के मिलने की उम्मीद जगी है। ग्रामीण एसपी से मिलकर पूरी घटना के बारे में बताया। इसके बाद ग्रामीण एसपी ने तुरंत मांडर थाना प्रभारी को जांच का आदेश देते हुए 30 जून को रिपोर्ट देने की बात कही है। ग्रामीण एसपी ने अपहृत के भाई को पूरी तरह मदद का भरोसा दिया। कहा कि इस मामले को नए सिरे से पुलिस खंगालेगी और संपूर्ण तथ्यों को सामने लाया जाएगा। बताते चलें कि राहुल पिछले 23 दिसंबर 2014 से गायब है। उसकी तलाश में बड़ा भाई संजू हर सक्षम दरवाजे तक जा चुका है।

----

अपहृत राहुल का भाई बोला, सीडब्ल्यूसी पर नहीं है भरोसा :

संजू का कहना है कि उसे सीडब्ल्यूसी पर भरोसा नहीं है। चूंकि उसके भाई राहुल के अपहरण के आरोपित ट्रक ड्राइवर का केस लड़ने वाली वकील तनूश्री सीडब्ल्यूसी सदस्य बन चुकी है। संजू ने बताया कि वह मदद की गुहार के लिए सीडब्ल्यूसी कार्यालय गया था। वहां तनुश्री मिलीं। ऐसे में वह कार्यालय से तुरंत लौट गया। संजू का कहना है कि जो एक बच्चे के अपहरण की घटना को झूठा बताकर आरोपित का साथ दे उससे मदद की उम्मीद नहीं की जा सकती। वकील तनूश्री के रहते हुए उसे सीडब्ल्यूसी पर भरोसा नहीं हैं।

------

'गायब बच्चे का मिलना सबसे ज्यादा जरूरी है। वकालत का पेशा अपनी जगह है। राहुल के भाई को ऐसा कतई नहीं समझना चाहिए। क्योंकि सीडब्ल्यूसी हर बच्चे के हित के लिए काम करती है। मैं व्यक्तिगत तौर पर मानवता के नाते भी काम भी करूंगी। गायब राहुल की बरामदगी के लिए केस लड़ने के दौरान भी प्रयास की थी।'

तनुश्री सरकार, सीडब्ल्यूसी सदस्य सह अधिवक्ता।

Posted By: Jagran