जागरण संवाददाता, रांची/सिल्ली : राजधानी के बाद संक्रमण प्रखंडों में तेजी से बढ़ रहा है। अब तक संक्रमण से अछूता सिल्ली प्रखंड में सोमवार को एक साथ दस पॉजिटिव मामले की पुष्टि हुई है। रिम्स में कुल 549 सैंपलों की जांच की गई थी, जिसमें सिल्ली के छह गांवों में लौटे प्रवासियों के सैंपल पॉजिटिव पाए गए है। गोराडीह से तीन, बंता से 1, बहमनी से 2, अजयगढ़ से 2, मिशाटांग से 1 और बकनाडीह से 1 मामले आए है। सभी की सैंपल सीएचसी सिल्ली से ली गई थी। मुरी ओपी प्रभारी गुलाम रब्बानी ने बताया कि संक्रमितों में से अधिकांश महाराष्ट्र और गुजरात से रांची लौटे थे। लौटने के क्रम में ही बीते 19 मई को ही सभी का सैंपल लेने के बाद उर्सुलाइन कॉन्वेंट स्कूल में क्वारंटाइन किया गया था। उन्होंने कहा कि बाहर से प्रखंड में पहुंचे किसी भी संक्रमित का उनके घरों या गांवों से अब तक कोई संपर्क नहीं रहा है। इसके बावजूद अनजाने में भी संपर्क में आने वालों की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री निकाली जाएगी। स्कूल को किया जाएगा सैनिटाइज, सिस्टर समेत अन्य स्टाफ का लिया जाएगा सैंपल

इधर, सिल्ली में एक साथ दस पॉजिटिव मामले आने के बाद वहां के लोगों में काफी दहशत है। सभी डरे हुए है। हालांकि ओपी प्रभारी का कहना है कि किसी भी प्रवासी का संपर्क उनके घरों या गांवों में नहीं था। ओपी प्रभारी गुलाम रब्बानी ने कहा कि सिल्ली को प्रशासनिक स्तर से और कढ़ाई की जाएगी। जिन स्कूलों में प्रवासियों को क्वारंटाइन किया गया था उसे अच्छी तरह से सैनिटाइज किया जाएगा। जिन सिस्टर व देखरेख करने वाले अन्य लोग उनके संपर्क में आए है सभी का सैंपल लेकर मंगलवार को जांच के लिए भेजा जाएगा। प्रवासियों से मिलने को लेकर इनके परिजनों के ऊपर विशेष सख्ती बरती जाएगी।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस