रांची, जासं। राजधानी रांची के नामकुम थाना क्षेत्र के स्वर्णरेखा नदी के पास राधा मंदिर के समीप मुर्गा मांगने के विवाद में दामाद ने ससुर के बस में आग लगा दी। इससे बस में सोए हुए एक स्थानीय व्‍यक्ति की जलकर मौत हो गई। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा के निर्देश पर डीएसपी नीरज कुमार के नेतृत्व में आरोपी को 12 घंटे के अंदर ही गिरफ्तार कर लिया गया है।

डीएसपी मुख्यालय नीरज कुमार ने बताया कि पास के रहने वाले जावेद नामक युवक की पत्नी कैंसर से पीड़ित थी। पास में ही रहने वाले उसके दामाद राजू राम ने ब्याज पर एक लाख रुपये लेकर उसका इलाज करवाया था। राजू ब्याज के छह हजार रुपये हर माह दे रहा था। इधर गत दो अक्टूबर को राजू जब अपनी टाटा मैजिक चला कर वापस लौटा तो उसने अपने ससुर से एक मुर्गा मांगा। घर में ढेर सारे मुर्गे रहने के बावजूद जावेद ने मुर्गा देने से मना कर दिया तो राजू गुस्‍सा हो गया।

उसने कहा कि एक लाख रुपये कर्ज़ लेकर उसने अपनी सास का इलाज करवाया और उसने एक मुर्गा देने से मना कर दिया। उस दिन के बाद जब राजू गाड़ी चला कर वापस लौटता तो शराब के नशे में जाकर मुर्गे की बात को लेकर झगड़ता था। रविवार रात लगभग नौ बजे भी राजू अपने ससुराल जाकर मुर्गा की बात पर झगड़ना शुरू किया तो मौके पर उपस्थित उसके साढू और ससुर ने उसे पीट दिया। आस-पास के लोगों ने उसे मौके से हटा कर झगड़ा खत्म कराया।

डीएसपी ने बताया कि पूछताछ में आरोपी ने बताया कि रात लगभग दस बजे दोबारा राजू ससुराल पहुंचा और झगड़ने लगा तो फिर ससुराल वालों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी। इससे गुस्साए राजू ने अपने ससुर जावेद के बस में आग लगा दी। इससे बस बुरी तरह जल गई और बस में नशे में सोया रामजी साव भी जल गया।

बस जलने की सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस को दी

बताया जा रहा है कि सुबह-सुबह बस को जला देखकर लोग मौके पर पहुंचे तो उसमें रामजी के जले होने की जानकारी मिली। मामले की जानकारी नामकुम पुलिस को दी गई। डीएसपी नीरज कुमार और थानेदार प्रवीण कुमार मौके पर पहुंचे और एसएसपी के निर्देश पर छानबीन शुरू की। छानबीन में राजू का नाम आया। उसके बाद पुलिस ने कार्यवाही करते हुए नामकुम के सिदरौल से पुलिस ने आरोपी राजू को गिरफ्तार कर लिया है। राजू ने मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। पुलिस ने राजू के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। उसे मंगलवार को जेल भेजा जाएगा।

बस के मालिक ने देखरेख के लिए दिया था बस

जावेद अपनी देखरेख में बस चलवाता था। बस मालिक भादो मुंडा है जो हटिया रेलवे कॉलोनी में रहते हैं। उन्होंने जावेद को बस चलवाने के लिए दिया था। बस स्कूल में चलती है। लॉकडाउन के कारण जब से स्कूल बंद है, बस वहीं खड़ी है।

जावेद और राजू की सास ने दो-दो शादी की है

मिली जानकारी अनुसार जावेद ने पहले मुस्लिम से शादी किया। वहीं दूसरी शादी एक आदिवासी महिला से की है। इसका दामाद राजू है। जावेद ने जिस आदिवासी महिला से शादी की है, उक्त महिला की भी दूसरी शादी है। राजू पहले पति से हुई बेटी, जो राजू राम की पत्नी है।

मृतक रात में कहीं भी सो जाता था

बताया जा रहा है कि मृतक रामजी साहू नामकुम पुराना थाना के पीछे रहता है। इधर-उधर नशे की हालत में सो जाता था। रविवार की रात उसी बस में सोया था, जिसमें राजू राम ने आग लगाई।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस