मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रांची, जासं। रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट से सोमवार को दिल्ली के लिए उड़ान भरने वाले विस्तारा विमान (फ्लाइट संख्या यूके 754) में बम की अफवाह फैलाने वाले को पुलिस ने बुधवार को जेल भेज दिया है। पुलिस ने उसे मंगलवार को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार आरोपित सरायकेला-खरसावां जिले के गम्हरिया निवासी सतीश कुमार सिंह है। सतीश ने रॉ आफिसर बन सोमवार की रात विस्तारा के स्टेशन मैनेजर को कॉल कर बम होने की बात कही थी।

कॉल कर धमकी भरे अलफाज में कहा था, 'फ्लाइट का टेक ऑफ रोक दो, वरना बम विस्फोट हो सकता है।' स्टेशन मैनेजर ने जब आगे पूछा तो कहा, 'जितना कहा गया, उतना करो। जल्दी फ्लाइट को उड़ान भरने से रोको।' फोन की गंभीरता को देखते हुए स्टेशन मैनेजर ने एयरपोर्ट अथॉरिटी को इसकी सूचना दी। इसके तुरंत बाद सीआइएसएफ, एटीसी व सुरक्षा से संबंधित अधिकारी रनवे पर पहुंचे और पूरी विमान की जांच करवाई। विमान में बम की जांच के लिए बम निरोधक दस्ते को भी बुलाया गया था। पूरी जांच के बाद पता चला कि जब सतीश के विमान छूटने की नौबत आई, तो उसने रॉ ऑफिसर बनकर बम की अफवाह फैला दी।

पूरी रात हुई सरायकेला में छापेमारी

अफवाह फैलाने के आरोप में विस्तारा एयरलाइंस के स्टेशन मैनजर ने सतीश के खिलाफ एयरपोर्ट थाने में एफआइआर दर्ज कराई थी। संबंधित फोन नंबर और कॉल की रिकॉर्डिंग भी पुलिस को उपलब्ध कराई गई थी। एफआइआर दर्ज होने के बाद पुलिस ने उसे पकडऩे के लिए सरायकेला में पूरी रात छापेमारी की। लेकिन, वह नहीं मिला। सुबह के समय पुलिस ने उसे रांची में एयरपोर्ट के पास से दबोच लिया।

विमान में 143 यात्री थे

विमान में कुल 143 यात्री थे। उनमें मनु मयंक, कैलाश खंडेलवाल व मुकुल भाटिया ने बताया कि वे अपना बोर्डिंग करा चुके थे। लगभग 8:20 बजे उन्हें सूचना दी गई कि सुरक्षा कारणों से विमान विलंब से उड़ान भरेगा। जबकि विमान के उड़ान भरने का निर्धारित समय 08:25 बजे था। इस वजह से तीनों लौट गए थे। बाद में सोमवार की रात के 11 बजे फ्लाइट दिल्ली के लिए टेकऑफ किया।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप