रांची, जासं। Mahashivratri 2020 हर-हर महादेव के जयकारे चहुंओर लग रहे हैं। हर शिवालय भक्‍तों के ओज से गूंजायमान है। महाशिवरात्रि को लेकर राजधानी के शिवालय सज-धज कर तैयार हैं। आज भगवान भोलेनाथ और पार्वती का शुभ विवाहोत्सव मनाया जा रहा है। जलार्पण के लिए सुबह से शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है।शहर के विभिन्न मंदिरों से भव्य शिव बरात निकाली गई है। देवी-देवता व हजारों भूत-पिशाच बाबा की शादी का गवाह बन रहे हैं। देर रात शिव पार्वती विवाहोत्सव अनुष्ठान संपन्न होगा।

मुख्यमंत्री  हेमन्त सोरेन ने आज महाशिवरात्रि पर्व पर ऐतिहासिक पहाड़ी मंदिर में मत्था टेका और बाबा भोलेनाथ से राज्य के सुख समृद्धि और खुशहाली की कामना की l उन्होंने राज्य वासियों को महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं दी l मुख्यमंत्री ने भोले बाबा की जय-जय और हर हर महादेव के जयकारे के बीच मंदिर परिसर से भव्य शिव बारात और जीवंत झांकियों को परंपरागत और विधिवत तरीके से विदा किया l इस मौके पर पूर्व केंद्रीय मंत्री  सुबोध कांत सहाय और शिव बारात आयोजन समिति के पदाधिकारियों के साथ हजारों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे l

ढोल-नगाड़ा और देवी देवताओं से जुड़े मनोहारी झांकियों के बीच शहर में तीन प्रमुख स्थान पहाड़ी मंदिर, कृष्णानगर कॉलोनी, रांची रेलवे आरपीएफ कॉलोनी स्थित शिव मंदिर से विशाल शिव बरात निकाली गई है। इसके अलावा कई अन्य स्थानों मंदिरों में शिव विवाह का आयोजन किया जा रहा है।

पहाड़ी मंदिर सहित अन्य शिवालयों में चाक-चौबंद सुरक्षा, झपटमारों पर विशेष नजर

शिवरात्रि को लेकर रांची के पहाड़ी मंदिर सहित शहर के अन्य शिवालयों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं  चाक चौबंद सुरक्षा के बीच शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। शिवालयों के आसपास अपराधिक किस्म के लोगों पर नजर रखने के लिए पुलिस की ओर से सुरक्षा की विशेष तैयारी की गई है। सादे लिबास में भी पुलिस बल के जवानों की तैनाती की गई है।

पूजा करने के लिए मंदिर पहुंचने वाली महिलाओं व युवतियों की सुरक्षा पर भी फोकस है। पहाड़ी मंदिर समेत वैसे शिवालय जहां ज्यादा भीड़ होती है, महिला पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया है। एसएसपी अनीश गुप्ता ने सभी थाना प्रभारियों को अपने अपने क्षेत्र में पड़ने वाले शिवालयों में आने-जाने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा पीसीआर, टाइगर माेबाइल और बाइक दस्ता के जवानाें काे भी लगातार सक्रिय रहते हुए मंदिर आने जाने वाले श्रद्धालुओं पर विशेष नजर रखने का निर्देश दिया गया है।

पहाड़ी मंदिर के समीप एक साै अतिरिक्त ट्रैफिक पुलिस जवानाें काे किया गया है तैनात

यातायात व्यवस्था के लिए पहाड़ी मंदिर के आसपास में 100 अतिरिक्त ट्रैफिक पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। बैरिकेडिंग के समीप तैनात किए गए जवानों को सख्त निर्देश दिया गया है कि किसी भी हाल में मंदिर की ओर दोपहिया या चार पहिया वाहन को जाने का इजाजत नहीं दे। पहाड़ी मंदिर पूजा करने के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो इसके लिए मुख्य सड़क से मंदिर तक जाने वाले मार्ग पर बैरिकेडिंग किया गया है। शनि मंदिर, दुर्गा मंदिर और हरमू रोड में बैरिकेडिंग कर अतिरिक्त ट्रैफिक पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। 

पहाड़ी मंदिर में तीन बजे से शुरू हुआ जलाभिषेक

प्रथम पूजा के बाद सुबह तीन बजे पहाड़ी मंदिर का पट श्रद्धालुओं के खोल दिया गया। संध्या सात बजे तक जलाभिषेक की सुविधा दी गई है। इसके बाद पहाड़ी बाबा का भव्य श्रृंगार किया जाएगा। भोग प्रसाद बांटे जाएंगे। भीड़ को देखते हुए अरघा सिस्टम से जलाभिषेक की व्यवस्था की गई। शिव लिंग के चारों चार अरघा लगाया गया। महिला-पुरुष के लिए अलग-अलग लाइन लगी। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए एक हजार लोटे की व्यवस्था की गई। यहां फव्वारे से श्रद्धालुओं को राहत प्रदान की जा रही थी।

बुजुर्ग व दिव्यांगों को शीघ्र दर्शन की सुविधा

पहाड़ी मंदिर समिति के कोषाध्यक्ष अभिषेक आनंद के अनुसार बुजुर्ग और दिव्यांगों के लिए शीघ्र दर्शन की व्यवस्था की गई। ऐसे भक्तों पहाड़ी मंदिर प्रबंधन की ओर से विशेष पास जारी किया गया था। पासधारी भक्तों ने बिना लाइन लगे जलाभिषेक किया। सुरक्षा में तैनात स्वयंसेवक जलाभिषेक में सहयोग करते दिखे।

चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी, 32 सीसीटीवी कैमरे से रखी जा रही नजर

भीड़ से निपटने के लिए दंडाधिकारी की देखरेख में बड़ी संख्या में महिला-पुरुष बल की तैनाती की गई है। सुरक्षाकर्मी अहले सुबह से ही सुरक्षा में मुस्तैद रहेंगे। 32 सीसीटीवी कैमरे से पूरे परिसर पर नजर रखी जा रही है। इसके अलावा बड़ी संख्या में आरएसएस व पहाड़ी मंदिर विकास समिति के कार्यकर्ता व्यवस्था संभालनें में जुटे रहेंगे। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए एंबुलेंस के साथ मेडिकल टीम को भी तैनात किया गया है।

 

पहाड़ी मंदिर से तीन बजे निकली शिव बरात

पहाड़ी मंदिर से दोपहर बाद तीन बजे शिव बरात निकाली गई। इससे पूर्व श्री शिव बरात आयोजन समिति के सदस्यों ने विधिवत रूप से पहाड़ी बाबा की पूजा अर्चना की। ढोल-नगाड़ा और जीवंत झांकियों के बीच शिवजी की बरात निकली। फूलों का विशेष शिवलिंग झांकी का आकर्षण केंद्र बना रहा। एलइडी टीवी पर शिव महिमा सुनाई जा रही थी। भजन कीर्तन के लिए कोलकाता के कलाकारों को विशेष तौर पर बुलाया गया। इसके अलावा विश्वनाथ मंदिर के तर्ज पर बनी झांकी भी लोगों की विशेष पसंद बनी। 

पहाड़ी मंदिर वर पक्ष और विश्वनाथ मंदिर होंगे वधू पक्ष की निभाएंगे रस्म

पहाड़ी मंदिर से बरात निकलकर अपर बाजार, शहीद चौक, अलबर्ट एक्का चौक, कचहरी चौक, रातू रोड होते हुए संध्या में पिस्का मोड़ विश्वनाथ पहुंचेगी। विश्वनाथ मंदिर समिति की ओर से बरात का स्‍वागत किया गया। रात में विवाहोत्सव आरंभ होगा। बरातियों के भंडारे की भी व्यवस्था की गई है। शिव बरात को विदा करने के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, सांसद संजय सेठ, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय, सीपी सिंह सहित कई गणमान्य मौजूद रहे।

 

रातू रोड में आतिशबाजी होगी खास

कुष्णानगर श्रीराधा कृष्ण मंदिर से दोपहर एक बजे भगवान भोलेनाथ की भव्य बरात निकाली गई। गाजे-बाजे के साथ नंदी पर सवार होकर शिवाजी विवाह करने निकले। बरात में शामिल हजारों साधु, भूत-पिशाच छऊ नृत्य करते साथ चल रहे थे। आतिशबाजी के बीच जीवन झांकी खास बनी थी। बरात श्री राधा कृष्ण मंदिर से निकल कर मेट्रो गली, रातू रोड, रानी सती मंदिर मार्ग, पहाड़ी मंदिर, गाड़ी खाना, कार्ट सराय रोड, जेजे रोड, शहीद चौक, अलबर्ट एक्का चौक, गांधी चौक, महावीर चौक, किशारी यादव चौक होते हुए आरआर स्पोर्टिंग क्लब मंदिर पहुंच रही है। यहां बरातियों का पुष्पवर्षा से स्वागत किया जाएगा। स्वागत सत्कार के बाद शुभ विवाहोत्सव आरंभ होगा। देर रात भोलेनाथ और माता पार्वती विवाह बंधन में बंधेंगे। इस दौरान आकाशीय आतिशबाजी के बीच भोलेनाथ और माता पार्वती का जयमाल होगा। 

शिवालयों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, विशेष अलर्ट का निर्देश

शिवरात्रि को लेकर रांची पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। पहाड़ी मंदिर के अलावा शहर के सभी शिवालयों में विशेष प्रतिनियुक्ति की गई है। पुलिस लाइन से सभी थानों को अतिरिक्त पुलिस बल दिया गया है। एसएसपी अनीश गुप्ता ने सभी थानेदारों को विशेष अलर्ट का निर्देश दिया है। इसके अलावा शिवालयों के आसपास सादे लिबास में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। पहाड़ी मंदिर के अलावा अन्य वैसे सिवालय जहां ज्यादा भीड़ होती है, वहां महिला पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया है। इसके अलावा थानों की गश्ती, पीसीआर, टाईगर मोबाइल और बाइक दस्ता के जवानों को भी लगातार सक्रिय रहने का निर्देश दिया गया है।

 

मनचलों और झपटमारों पर विशेष नजर

शिवालयों के आसपास मनचलों और झपटमारों पर विशेष नजर रखने का निर्देश दिया गया है। ताकि झपटमारी और छेड़खानी की घटनाओं पर रोक लगाई जा सके। प्रतिनियुक्त किए गए पुलिसकर्मियों को निर्देश दिया गया है कि कोई भी संदिग्ध नजर आए, तो तुरंत हिरासत में लेकर सत्यापन करें। इसके अलावा बाइक चोर गिरोह पर भी निगरानी का भी निर्देश दिया है। 

पहाड़ी मंदिर के पास की गई बैरिकेडिंग

पहाड़ी मंदिर में भीड़ की वजह से वहां बैरिकेडिंग की गई है। शनि मंदिर, दुर्गा मंदिर और हरमू रोड से पहाड़ी मंदिर तक जाने वाले रास्ते को बैरिकेड किया गया है। ताकि वाहनों का दबाव न बढ़े। पहाड़ी मंदिर सहित पूरे शहर में 100 अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। बैरिकेडिंग के बाद कोई भी बाइक या कार आगे बढऩे नहीं दिया जाएगा।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस