रांची, जेएनएन। कोरोना वायरस को लेकर देशभर में लागू किए गए लॉकडाउन को लेकर आज बड़ा फैसला आ सकता गया है। गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर अलग-अलग राज्‍यों के मुख्‍यम‍ंत्रियाें के सुझावों की जानकारी दी। इसके बाद लॉकडाउन एक बार फिर से 30 जून तक के लिए बढ़ाया गया है। इस बार बंदिश और छूटों में राज्‍यों की भूमिका को बढ़ाते हुए लाॅकडाउन 5 लागू कर दिया गया है।

इधर झारखंड में कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलाें और लगातार बिगड़ रहे हालात को देखते हुए अभी रियायतें देने के बाबत सरकार ने स्‍पष्‍ट रुख तय नहीं किया है। मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने केंद्र के हर निर्णय के साथ खड़ा रहने की बात कही है। 30 जून तक लागू लाॅकडाउन 5 जारी रखने के मसले पर सीएम फिर से केंद्र के अनुरूप ही गाइडलाइन तय कर सकते हैं।

हजाराें प्रवासी मजदूरों के झारखंड आगमन के बाद से राज्‍य में कोरोना के बिगड़े हालात को लेकर और कड़ाई भी की जा सकती है। इधर गोवा के मुख्‍यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि केंद्र सरकार की ओर से 30 दिन और लॉकडाउन बढ़ाया जा रहा है। हालांकि इस बार लॉकडाउन में बंदिशें और छूटों को लेकर राज्‍यों को ज्यादा अधिकार दिए जाएंगे। पाबंदियों में ढील देने या सख्‍ती बढ़ाने को लेकर लॉकडाउन के पांचवें चरण में राज्‍य ही अपने तरीके से फैसले ले सकेंगे।

सार्वजनिक कार्यक्रमों, अंतर्राष्‍ट्रीय उड़ानों, सिनेमा हॉल, मॉल, स्‍कूल-काॅलेज खोलने आदि पर राज्‍य सरकार निर्णय कर सकती है। इस दौरान शारीरिक दूरी का अनुपालन और अन्‍य सुरक्षा एहतियातों के बारे में केंद्र की ओर से गाइडलाइन जारी‍ किया जा सकता है। स्‍कूल कॉलेज के साथ ही परीक्षाओं के बारे में पहले ऊपर की कक्षाओं और बाद में नीचे की कक्षाओं में पढ़ाई शुरू करने पर लॉकडाउन फेज पांच में अहम फैसला आएगा।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस