रांची/लातेहार, जागरण टीम। रांची जिले के मांडर क्षेत्र के विधायक बंधु तिर्की लातेहार जिले के बालूमाथ स्थित मननडीह गांव में पहुंचे। उन्होंने करम डाली विसर्जन के दौरान गड्ढे में डूबने से सात बेटियों की मौत मामले में जानकारी ली। शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाते हुए हरसंभव मदद की बात कही। इसी दौरान ग्रामीणों ने उन्हें गांव में व्याप्त परेशानियों की जानकारी दी। इस पर विधायक ने लातेहार उपायुक्त अबु इमरान को फोन किया। फोन का स्पीकर आन था।

विधायक ने डीएमएफटी (डिस्ट्रिक्ट मिनरल फाउंडेशन ट्रस्ट) को लेकर होनेवाली बैठक के बारे में पूछा। उपायुक्त ने बताया कि बैठक हो चुकी है। इलाके में सड़क निर्माण समेत कूप और अन्य कई जीर्णोद्धार की योजनाएं ली गई हैं। इस पर विधायक ने कहा कि गांव में ग्रामसभा कराकर यहां की जरूरतों को जरूर शामिल कर लें। जवाब में उपायुक्त ने कहा कि शामिल कर लिया जाएगा। इसके बाद उपायुक्त कहने लगे कि थोड़ा देख लीजिएगा, संवेदनशील मामला है।

लड़कियों को बचाने वाला मुसलमान है, और सीओ तथा डीसी भी मुसलमान हैं। आपलोग यहां बार-बार आइएगा तो दूसरा पक्ष नाराज है, आपको चुनाव जिताने वाले भी मुसलमान हैं। विधायक और उपायुक्त की बात मोबाइल स्पीकर पर सभी लोग सुन रहे थे। सभी हंसने लगे। फिर विधायक ने अंग्रेजी में कहा- आइ एम बंधु तिर्की। मैं ट्राइबल मामलों के लिए असम तक जाता हूं, तो ये गांव जाना कौन-सी बड़ी बात है। दैट इज आवर रिसपांसबिलिटी।

इसलिए बेकार की बात मत कीजिए डीसी साहब... यहां के ग्रामीणों की समस्याएं दूर कीजिए। इसी वार्तालाप का वीडियो बना कर कुछ लोगों ने वायरल कर दिया। अब इस वीडियो की खूब चर्चा हो रही है। उधर, इस संबंध में पक्ष जानने के लिए उपायुक्त अबु इमरान से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका। वहीं, बंधु तिर्की ने कहा कि उपायुक्त ने किस संदर्भ में उक्त बातें कहीं, मैं नहीं कह सकता। अपनी समस्या से पल्ला झाड़ने के लिए अधिकारी ऐसी बात करते रहते हैं। मामले को तूल देने की जरूरत नहीं है। मैं ग्रामीणों से मुलाकात कर उनकी समस्या जानने गया था। ग्रामीणों की समस्या उठाता रहा हूं। आगे भी उठाता रहूंगा।

Edited By: Sujeet Kumar Suman