नई दिल्ली, जेएनएन। चारा घोटाले में सजा काट रहे राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव बृहस्पतिवार को रांची राजधानी एक्सप्रेस के जरिये दिल्ली पहुंचे। सुबह 11.41 बजे उनकी ट्रेन नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 16 पर पहुंची, जहां से वीआइपी गेट के जरिये उन्हें पुख्ता सुरक्षा इंतजामों के बीच एम्स में इलाज के लिए रवाना कर दिया गया। लालू को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर लेने के लिए उनकी बेटी मीसा भारती व राजद नेता राजनारायण समेत अन्य नेता भी पहुंचे। लालू यादव को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के इमरजेंसी में भर्ती कराया गया है। वहां से उन्‍हें प्राइवेट वार्ड में स्‍थानांतरित किया जा सकता है।

मीसा भारती ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना

मीसा भारती ने कहा कि लालू यादव को विमान से दिल्ली लाना चाहिए था, क्योंकि उनकी तबीयत बहुत खराब है। मीसा ने बिहार में हो रहे दंगों को लेकर भी नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बिहार में डबल इंजन की सरकार चल रही है। यही वजह है कि दंगे में आरोपी केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है, बल्कि उनके पिता अपने बेटे की तुलना महात्मा गांधी से कर रहे हैं। वहीं, तीसरे मोर्च के सवाल पर मीसा ने कहा कि हर क्षेत्रीय पार्टी को तीसरा मोर्चा समझा जाता है, अब यही पार्टियां मिल रही हैं, जो भाजपा को बाहर कर देंगी।

वीडियो कॉलिंग के जरिये लाइव देख रही थीं राबड़ी

लालू यादव के दिल्ली पहुंचने पर उनके पूरे परिवार की नजर थी। यही वजह है कि राबड़ी देवी भी खुद अपने एक जानकार के जरिये लालू के दिल्ली पहुंचने के हर घटनाक्रम को वीडियो कॉल के जरिये देख रही थीं। लालू की गाड़ी चलाने वाला शख्स वीडियो कॉल के जरिये पूरे घटनाक्रम को दिखा रहा था।

लालू के समर्थन में कुलियों ने लगाए जिंदाबाद के नारे

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर रांची राजधानी एक्सप्रेस से दिल्ली पहुंचे लालू यादव जैसे ही प्लेटफॉर्म नंबर 16 पर ट्रेन से उतरे तो कुलियों ने लालू यादव के समर्थन में नारेबाजी शुरू कर दी। लालू यादव जिंदाबाद समेत देश का नेता लालू यादव जैसा हो के नारे लगा दिए। जब तक लालू गाड़ी में बैठकर एम्स के लिए रवाना नहीं हो गए, तब तक कुली लालू के समर्थन में नारेबाजी करते रहे। कुली नेमचंद का कहना था कि वह राजस्थान के रहने वाले हैं, लालू जब केंद्र सरकार में रेलमंत्री थे तो उन्होंने कुलियों को नौकरी दी थी। इसी वजह से वह उनके यहां पहुंचने पर नारेबाजी कर रहे हैं।  

त्रिस्तरीय सुरक्षा में लालू ट्रेन से दिल्ली रवाना
चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव बुधवार की शाम बेहतर इलाज के लिए राजधानी एक्सप्रेस से त्रिस्तरीय सुरक्षा में रांची से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इसमें पहली सुरक्षा उत्तर प्रदेश आरपीएफ, दूसरी रांची आरपीएफ और तीसरी सुरक्षा में रांची पुलिस के जवान तैनात हैं। लालू की बोगी में किसी को भी नहीं घुसने देने के लिए पुलिस फोर्स को सख्त निर्देश दिया गया है।

लालू के साथ करीब आधा दर्जन सुरक्षाकर्मियों को ट्रेन में रवाना किया गया, मगर उनकी बोगी एच-1 में पुलिस के सिर्फ एक अधिकारी रमा तिग्गा गए। लालू की सुरक्षा में शामिल आधा दर्जन जवान बी-6 में सवार थे। लालू की बोगी में राजद के विधायक व अन्य नेता मिलाकर आठ लोग थे। रेलवे कैंटीन से भैंस के दूध की मंगवाई गई चायट्रेन में लालू के लिए रेलवे कैंटीन से भैंस के दूध से बनी चाय बिना चीनी की मंगवाई गई। लालू के लिए जूस, वेज सैंडविच, समोसा, मिठाई, बदाम और कॉफी दिया गया। एंबुलेंस से नहीं टाटा सुमो से गए स्टेशनलालू का रिम्स में इलाज चल रहा था। वहां से उन्हें ट्रेन से रवाना करने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था की गई थी, मगर लालू एंबुलेंस से नहीं टाटा सुमो गाड़ी में बैठकर रेलवे स्टेशन के लिए रवाना हुए।

उनके साथ उनकी तीमारदारी में रहने वाले विधायक भोला यादव और सुरक्षाकर्मी थे। एंबुलेंस सुमो के आगे खाली गई। आगे-पीछे भी वाहन पर सुरक्षाकर्मी थे।

नहीं मिली विमान से जाने की अनुमति

रिम्स मेडिकल बोर्ड ने जांच के बाद लालू को एम्स भेजने की अनुशंसा की थी। लालू ने मंगलवार को ही जेल प्रशासन को आवेदन देकर अपने खर्च पर विमान से इलाज के लिए एम्स जाने की अनुमति मांगी थी। लेकिन रांची स्थित होटवार जेल के अधीक्षक ने उनका यह अनुरोध नहीं माना। 

ट्रेन में लालू ने किसी से भी बात करने से इंकार किया।

टाटा सूमो में बैठकर रेलवे स्टेशन के लिए रवाना हुए लालू।

रांची रेलवे स्टेशन पर तैनात पुलिस।

रांची रेलवे स्टेशन पर लालू को देखने के लिए उमड़ी भीड़।

Posted By: Sachin Mishra