रांची, राज्य ब्यूरो। JVM -  पोड़ैयाहाट के विधायक प्रदीप यादव ने मंगलवार की  रात झाविमो के प्रधान महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया। इससे पूर्व मंगलवार की ही शाम झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने प्रदीप को तीन दिनों के अंदर पद त्यागने का निर्देश दिया था। इस बाबत भेजे गए पत्र में बाबूलाल ने पार्टी की प्रवक्ता द्वारा प्रदीप यादव पर लगाए गए अश्लील हरकत के आरोप का हवाला दिया था। मरांडी ने आरोप की जांच होने तक नैतिकता के आधार पर प्रदीप को पद त्यागने को था।
इधर, प्रदीप यादव ने बाबूलाल मरांडी को भेजे गए अपने इस्तीफे में प्रवक्ता द्वारा लगाए गए आरोप का जरा भी जिक्र नहीं किया है। उन्होंने पद त्यागने की वजह गोड्डा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में मिली हार को बताया है। बताते चलें कि पार्टी ने प्रदीप को गोड्डा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से महागठबंधन का प्रत्याशी बनाया था, जो एनडीए प्रत्याशी निशिकांत दुबे से मात खा गए।
प्रदीप यादव को भेजे गए अपने पत्र में मरांडी ने कहा है कि प्रवक्ता ने उन्हें 21 अप्रैल की सुबह फोन कर प्रधान महासचिव द्वारा गलत हरकत किए जाने की जानकारी दी थी। प्रवक्ता ने इस मामले में प्राथमिकी भी दर्ज कराई है। उसने प्रदीप पर आरोप मढ़ा है कि 20 अप्रैल की रात प्रदीप ने उसे एक होटल में बुलाया और उससे दुष्कर्म की कोशिश की।
वह किसी तरह वहां से बचकर निकल गई। इस दौरान प्रधान महासचिव ने उसके पर्स में रखे रुपये भी ले लिया। इस घटना के बाद एक और महिला ने भी उनपर गलत हरकत करने का आरोप लगाया था, जिससे संबंधित वीडियो भी पिछले दिनों वायरल भी हुआ था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप