रांची, जासं। झारखंड लोक सेवा आयोग रांची द्वारा आयोजित झारखंड संयुक्त असैनिक सेवा प्रारंभिक परीक्षा 19 सितंबर को आयोजित की गई है। प्रथम पाली में परीक्षा 10 बजे पूर्वाह्न से 12 बजे मध्याह्न एवं द्वितीय पाली में अपराह्न 02 बजे से अपराह्न 04 बजे तक 188 विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जाएगी। परीक्षा केंद्रों पर कदाचार मुक्त वातावरण में परीक्षा के आयोजन को लेकर उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी रांची एवं वरीय पुलिस अधीक्षक रांची द्वारा पुलिस बल एवं पुलिस पदाधिकारियों के साथ दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है।

परीक्षा केंद्र पर भीड़ लगाकर विधि व्यवस्था भंग करने की आशंका को देखते हुए अनुमंडल दंडाधिकारी, सदर, रांची द्वारा परीक्षा केंद्रों के 200 मीटर की परिधि में निषेधाज्ञा जारी की गई है। परीक्षा केंद्रों के 200 मीटर की परिधि में यह निषेधाज्ञा 19 सितंबर 2021 को प्रात: सात बजे से अपराह्न सात बजे तक प्रभावी रहेगा।

परीक्षा में कोरोना गाइडलाइंस का पूरी तरह से करें अनुपालन

झारखंड राज्य सेवा आयोग रांची द्वारा आयोजित झारखंड संयुक्त असैनिक सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2021 के सफल संचालन को लेकर गुरुवार को उपायुक्त छवि रंजन की अध्यक्षता में रांची के विभिन्न परीक्षा केंद्राधीक्षकों एवं जोनल/स्टैटिक मजिस्ट्रेट की ब्रीफिंग की गई। मोरहाबादी स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय सभागार में आयोजित ब्रीफिंग में उपायुक्त छवि रंजन ने कहा कि परीक्षा संचालन के लिए झारखंड राज्य सेवा आयोग द्वारा कोविड-19 के मद्देनजर जो दिशा निर्देश दिए गए हैं, उनका पूरी तरह से सभी परीक्षा केंद्रों में अनुपालन सुनिश्चित करें। 

सभी केंद्र अधीक्षकों को कहा गया है कि परीक्षा देने आनेवाले छात्रों की थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था करें। इस मौके पर उपविकास आयुक्त विशाल सागर, अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था उत्कर्ष गुप्ता, अनुमंडल पदाधिकारी सदर रांची, दीपक दुबे, परीक्षा नियंत्रक, जेपीएससी के एम खान सहित रांची के विभिन्न परीक्षा केन्द्राधीक्षक एवं जोनल/स्टैटिक मजिस्ट्रेट उपस्थित थे। ब्रीफिंग के दौरान उपायुक्त द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी दिशा निर्देशों के अनुपालन के साथ परीक्षा संपन्न कराने का निर्देश दिया गया।

केंद्राें में छात्रों के प्रवेश के लिए शारीरिक दूरी के अनुपालन की व्यवस्था और सैनिटाजेशन का भी निर्देश उन्होंने दिया। परीक्षा के दौरान कुछ ऐसे छात्र भी हो सकते हैं, जिनके पास मास्क ना हो, ऐसी स्थिति में सभी केंद्र को मास्क रिजर्व में रखना है और बिना मास्क के छात्रों को मास्क उपलब्ध कराकर परीक्षा केंद्र में प्रवेश देना है। उन्होंने कहा कि परीक्षा संचालन में लगे कर्मी भी अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें। छात्रों के बीच मास्क लगाकर रहें, ताकि संक्रमण का खतरा कम हो।

Edited By: Sujeet Kumar Suman