रांची, राज्य ब्यूरो।  NHM Strike, Contract Workers Strike झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभियान के तहत कार्यरत अनुबंध कर्मियों से हड़ताल से वापस लौटने की अपील की है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि हर बात को लेकर हड़ताल पर जाना उचित नहीं है। अनुबंध कर्मी यदि हड़ताल से वापस नहीं लौटते हैं तो सरकार विज्ञापन निकालकर उनकी जगह नई बहाली पर भी विचार करेगी। उनके पास यह विकल्प है। उनकी हड़ताल से स्वास्थ्य सेवाएं बाधित होने नहीं दी जाएगी।

इधर, झारखंड हेल्थ इम्प्लाय वेलफेयर एसोसिएशन के बैनर तले मंगलवार को हुई बैठक में अनुबध कर्मियों ने मंत्री के इस बयान की निंदा की। साथ ही हड़ताल को जारी रखने का निर्णय लेते हुए इसे सफल बनाने की रणनीति तय की। कर्मियों ने कहा कि मंत्री के बयान के प्रति रोष प्रकट करते हुए आंदोलन को और उग्र बनाया जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री ने वर्ष 2021 को नियुक्ति वर्ष घोषित किया है दूसरी तरफ मंत्री अनुबंध कर्मियों को हटाकर नई बहाली की बात कर रहे हैं। बता दें कि एनएचएम के तहत अनुबंध पर कार्यरत कर्मी राज्य कार्यक्रम प्रबंधक के पद पर कार्य कर रहे ज्वाला प्रसाद को सेवामुक्त करने के आदेश वापस लेने की मांग कर रहे हैं। साथ ही स्थायीकरण व अन्य सुविधाओं की भी मांग कर रहे हैं।

प्रभारी अभियान निदेशक भुवनेश कुमार सिंह की इनके साथ हुई कई वार्ता असफल हो चुकी है। कर्मी ज्वाला प्रसाद की बर्खास्तगी वापस लेने पर अड़े हुए हैं, जबकि अभियान निदेशक का कहना है कि विभिन्न अनियमितता को लेकर उनके विरुद्ध कार्रवाई की गई है। यह कार्रवाई वापस नहीं ली जा सकती। इधर, कर्मियों की हड़ताल से राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभियान के कई कार्यक्रम प्रभावित हो रहे हैं।

अनुसूचित जाति के प्रति उदासीन रवैया

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक के बाद पूर्व मंत्री अमर कुमार बाउरी ने कहा कि पंचायत चुनाव में कई सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं लेकिन जाति प्रमाणपत्र बनवाने में प्रत्याशियों को काफी परेशानी होगी। प्रमाणपत्र नही बनने से नौकरी के लिए भी दिक्कत आ रही है। बैठक में पिछले दिनों वाराणसी में सम्पन्न भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में तय कार्ययोजना को झारखंड प्रदेश में लागू करने पर विशेष चर्चा हुई।

उन्होंने कहा कि राज्य की विधि व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। पार्टी आने वाले दिनों में आंदोलन करने पर विचार कर रही है। बैठक में भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री डा. जीतू चरण राम, राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य सीताराम रवि, उपाध्यक्ष प्रभात भुइयां, महामंत्री रंजय भारती एवं रंजन पासवान आदि मौजूद थे।

Edited By: Alok Shahi