हजारीबाग, संस। Jharkhand Crime News छतीसगढ़ में संचालित कोयला कंपनियों में बम से विस्फोट कर दहशत फैलाने के बाद हजारीबाग पहुंचे अमन साव गैंग के दो गुर्गे वारदात से पूर्व पकड़े गए हैं। कोर्रा थाने की पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर मुफ्फसिल थाने की पुलिस के सहयोग से इन्हें पकड़ा है। कनहरी ओवरब्रिज पुल के समीप घेराबंदी कर पकड़े आए अपराधियों के पास से पुलिस ने एक पिस्टल, 11 कारतूस के अलावा 57 हजार रुपए नगद , एक अपाची मोटरसाइकिल और तीन मोबाइल बरामद की है।

पुलिस का क्या है कहना

इस बाबत जानकारी देते हुए थाना प्रभारी कोर्रा उत्तम तिवारी ने बताया कि लेवी और आपराधिक घटना को अंजाम देने पहुंचे अपराधियों की सूचना एसपी को मिली थी। एसपी ने कोर्रा थाना प्रभारी और मुफ्फसिल थाना प्रभारी बजरंग महतो के नेतृत्व में छापेमारी दल का गठन किया गया था। तकनीकी सेल की मदद से आरोपित कनहरी क्षेत्र में होने की सूचना मिली। सोमवार रात घेराबंदी कर इन्हें पूल के समीप से पकड़ लिया गया।

गिरफ्तार आरोपितों में नीतीश शील उर्फ मेजर सिंह पिता मितायी शील, जायगढ़ जिला रायगढ़ छतीसगढ़ तथा दूसरा अभिनव तिवारी उर्फ सुशांत तिवारी शामिल है।

चोरी की है मोटरसाइकिल का पुलिस कर रही जांच

जानकारी के अनुसार गुर्गों के पास से बरामद मोटरसाइकिल चोरी की है। पूछताछ के दौरान कोई वैध जानकारी इनके द्वारा उपलब्ध नहीं कराया गया है। पुलिस वाहन की जांच कर रही है। संभावना जताया जा रहा है कि चोरी के मोटरसाइकिल से लेवी लेने आए आरोपित का कोई नंबर प्लेट देख भी लेता तो उसकी पहचान नहीं हो सकती थी। पुलिस गिरफ्तार आरोपितों का आपराधिक रिकार्ड भी तलाश कर रही है।

Edited By: Sanjay Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट