रांची, राज्य ब्यूरो। कोरोना टीकाकरण के तहत राज्य में वयस्कों (18 वर्ष से ऊपर) को लग रही बूस्टर डोज की रफ्तार यही रही तो सभी वयस्कों को यह हतियाती डोज लगाने में 1000 दिन और लग जाएंगे। राज्य में वर्तमान में प्रतिदिन औसतन 20 हजार वयस्कों को यह डोज लगाई जा रही है। लगभग दो करोड़ और लोगों को यह डोज लगनी है। इस तरह, लक्ष्य पूरा होने में 1000 दिन और लग जाएंगे। राज्य में एक माह में महज छह लाख वयस्कों को ही बूस्टर डोज लग सकी है।

4.07 लाख नागरिकों को लगी बूस्टर डोज

यहां 18 से अधिक आयु के नागरिकों की अनुमानित आबादी 2,10,46,083 है। इनमें हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स तथा 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्ग भी शामिल हैं, जिनकी अनुमानित संख्या 38,28,249 है। इन्हें पहले से ही मुफ्त बूस्टर डोज मुफ्त लगाई जा रही थी तथा सभी वयस्कों को बूस्टर डोज मुफ्त लगने से पहले इन तीनों श्रेणी के 4.07 लाख नागरिकों को यह डोज लग चुकी थी। वर्तमान में 18 वर्ष से अधिक उम्र के 10.04 लाख लोगों को यह डोज लग चुकी है। इस तरह, एक माह में छह लाख लोगों को ही यह डोज लग सकी। लगभग दो करोड़ वयस्कों को यह डोज लगनी बाकी है। दरअसल, बूस्टर डोज काे लेकर राज्य में कोई बड़ा अभियान नहीं चलाया जा रहा है। इस डोज को लेकर लोगों में उदासीनता भी देखी जा रही है। जबकि विशेषज्ञ कोरोना से पूरी तरह प्रतिरक्षित होने के लिए इस डोज को महत्वपूर्ण मानते हैं।

18 से 59 वर्ष के पांच लाख लोग को टीका

मुफ्त बूस्टर डोज लगना शुरू होने के बाद 18 से 59 वर्ष आयु के अबतक लगभग पांच लाख नागरिकों को यह डोज लगी है। इनमें लगभग 63 हजार वैसे नागरिक भी शामिल हैं जो पूर्व में भुगतान कर निजी अस्पतालों में बूस्टर डोज लगवाई थी।

30 सितंबर तक सभी वयस्कों को टीका का लक्ष्य

केंद्र सरकार ने 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी नागरिकों को 30 सितंबर तक बूस्टर डोज लगाने का लक्ष्य रखा है। राज्य में टीकाकरण की यह रफ्तार रही तो यह संभवन नहीं होगा। इस अवधि तक महज नौ लाख वयस्कों को ही यह डोज लग सकेगी।

कब कितने लोगों को लगी बूस्टर डोज (आंकड़े प्रतिशत में)

  • श्रेणी - 15 जुलाई 2022 तक - 15 अगस्त 2022 तक
  • हेल्थ केयर वर्कर्स - 44 - 49
  • फ्रंटलाइन वर्कर्स - 35 - 39
  • 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिक - 06 - 08

Edited By: M Ekhlaque