रांची, राज्य ब्यूरो। राज्य में बिजली की खराब दशा पर मुख्यमंत्री रघुवर दास के कड़े रूख से बिजली महकमे के अफसरों की नींद उड़ गई है। मुख्यमंत्री ने सचिवालय में लगातार दो दिन बैठक कर अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई। सोमवार को प्रमुख अधिकारियों की बैठक के बाद वे मंगलवार को भी अफसरों से रूबरू थे। इस दौरान ऊर्जा विभाग की सचिव वंदना डाडेल ने उन्हें की जा रही कवायद से अवगत कराया।

मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कहा कि वे हर हालत में सामान्य आपूर्ति की अपेक्षा रखते हैं और इसमें किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अधिकारियों ने उन्हें भरोसा दिलाया कि हालात सामान्य हो जाएंगे। बिजली की उपलब्धता कम होने की वजह से यह समस्या पैदा हुई है। राजधानी में बिजली की किल्लत पर मुख्यमंत्री खासा नाराज दिखे। इसे देखते हुए ऊर्जा विभाग की सचिव वंदना डाडेल ने बुधवार को रांची एरिया बोर्ड के महाप्रबंधक समेत पूरी टीम को अपने दफ्तर में तलब किया है। इस दौरान वे पदाधिकारियों संग वस्तुस्थिति का जायजा लेंगी।

  • आज रांची एरिया बोर्ड के महाप्रबंधक समेत तमाम अधिकारी तलब
  • लगातार मॉनिटरिंग करते रहे अधिकारी, सतर्कता बरतने के निर्देश
  • राजधानी में किल्लत पर अधिकारियों को लगी फटकार

उधर, बिजली वितरण निगम के प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार ने भी मंगलवार को अधिकारियों पर नकेल कसी। उन्होंने निर्देश दिया है कि आवश्यकता पडऩे पर ही लोड शेडिंग की जाए। इसके अलावा तकनीकी समस्याओं का समाधान त्वरित गति से की जाए। अधिकारी बिजली की चोरी पर भी नजर रखें और तत्काल कार्रवाई करें। निर्देश दिया कि आपूर्ति में सुधार के लिए मिशन मोड में काम करें ताकि बिजली व्यवस्था को पटरी पर लाया जा सके।

टीवीएनएल की एक यूनिट का ट्यूब लीकेज

मंगलवार को भी तेनुघाट विद्युत निगम लिमिटेड की यूनिट संख्या दो से बिजली का उत्पादन नहीं हो पाया। अधिकारियों ने बताया कि ताप विद्युत संयंत्र का ट्यूब लीकेज हो गया है। इसे ठीक करने में दो से तीन दिन लग सकते हैं। स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर के मुताबिक मंगलवार को टीवीएनएल की एक यूनिट से 166 मेगावाट का उत्पादन हुआ। दूसरे यूनिट से उत्पादन आरंभ होने के बाद आपूर्ति सामान्य होगी।

राज्य में बिजली की उपलब्धता

  • टीवीएनएल - 166 मेगावाट
  • एसएचपीएस - 00 मेगावाट
  • सीपीपी - 20 मेगावाट
  • इनलैंड पावर - 51 मेगावाट
  • सेंट्रल पूल - 617 मेगावाट
  • एसइआर - 38 मेगावाट
  • आइइएक्स - 119 मेगावाट

धनबाद-बोकारो में बिजली संकट

राज्य में बढ़ते बिजली संकट को लेकर भाजपा विधायकों ने भी मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराना शुरू कर दिया है। मंगलवार को धनबाद विधायक राज सिन्हा और बोकारो विधायक विरंची नारायण ने सीएम से मिलकर समस्याओं का निराकरण करने की मांग की। सीएम ने दोनों को आश्वस्त किया कि सरकार की प्राथमिकता में बिजली को दुरुस्त करना है। इसके बाद विधायक बिजली वितरण निगम लिमिटेड के एमडी राहुल पुरवार से भी मिले।

सीएम से चर्चा के दौरान धनबाद विधायक राज सिन्हा ने भूली टाउनशिप में राज्य सरकार के स्तर से बिजली आपूर्ति बहाल करने की मांग की। वहां वर्तमान में कोल कंपनी बीसीसीएल विद्युत आपूर्ति मुहैया करा रही है लेकिन बड़ी संख्या में अवैध वाशिंदे होने और बिल वसूल नहीं होने के कारण बीसीसीएल देखरेख जैसे कार्यों को नहीं देख पा रही है।

कंपनी ने लिखकर भी दे दिया है कि अगर राज्य सरकार की एजेंसी वहां विद्युत आपूर्ति करती है तो वह अपनी परिसंपत्तियां मुफ्त में दे देगी। इसके बाद वहां एचईसी की तर्ज पर भूली में भी बिजली आपूर्ति करने के प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री ने अपनी सहमति जताई। राज सिन्हा ने इसके बाद निगम के एमडी राहुल पुरवार से भी मुलाकात की। अधिकारियों से एक सप्ताह में इस संदर्भ में रिपोर्ट तलब की गई है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Alok Shahi