रांची, जेएनएन। आरसी47 डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ रुपये के अवैध निकासी मामले में सोमवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र, जगदीश शर्मा सहित 22 आरोपी सीबीआइ की विशेष अदालत में पेश हुए। अब मामले में अगली गवाही 27 से होगी।
तीन आरोपी सेहरू निशा, मंजूबाला जायसवाल, मधू मेहता (सभी सप्लायर) खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर कोर्ट नहीं पहुंचे। अदालती कार्यवाही के बाद सभी को जाने दिया गया। मामले में लालू प्रसाद यादव, जगन्नाथ मिश्र सहित 122 को आरोपी बनाया गया है। इस पर सुनवाई चल रही है। सीबीआइ के विशेष जज प्रदीप कुमार ने बेल पर बाहर सभी आरोपी को अदालत में उपस्थित होने का आदेश दिया था।
ये आरोपी पिछली सुनवाई में नहीं आए थे। 27 मई को टीएम प्रसाद सहित अन्य चार आरोपी का बयान दर्ज होगा। इस दौरान अभियोजन पक्ष की ओर से प्रश्न पूछे जाएंगे। इस मामले में लालू प्रसाद यादव भी आरोपी हैं, जो की फिलहाल अन्य कई मामले में सजा काट रहे हैं। वहीं जगन्नाथ मिश्र बेल पर हैं।
आज ये हुए उपस्थित
रवींद्र प्रसाद, सुशील कुमार सिन्हा, राजन मेहता, सुनील गांधी, नित्यानंद सिंह, डॉ. अवधेश कुमार सिंह, डीके राय आदि।
दरअसल डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले में सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश प्रदीप कुमार की अदालत ने सभी आरोपितों को अदालत में हाजिर होने का आदेश दिया था, जिसके तहत गुरुवार को 116 आरोपितों में से 92 आरोपित अदालत में हाजिर हुए। इस दौरान बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र की ओर से बीमारी का हवाला देते हुए अदालत में हाजिर होने से छूट के लिए आवेदन दिया गया।
इसे अदालत ने स्वीकार भी कर लिया। हालांकि अदालत ने बाकी बचे आरोपितों को 20 मई को अदालत में उपस्थित होने का निर्देश दिया। सीबीआइ की अदालत में विद्यासागर निषाद और जेल से जगदीश शर्मा व आरके राणा सहित अन्य लोग पेश हुए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस