रांची/तुपुदाना, जासं। रांची के कुख्यात अपराधी राजू गोप से जुड़े एक मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में दारोगा चंद्रनाथ सस्पेंड कर दिए गए हैं। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने उन्हें सस्पेंड किया है। रंगदारी से जुड़े मामले में अपराधी राजू गोप को रिमांड पर लेकर पूछताछ किया गया था। इसके बाद उसके खिलाफ केस के अनुसंधानकर्ता दारोगा चंद्रनाथ ने समय पर चार्जशीट कोर्ट काे नहीं सौंपा था। इससे राजू गोप को केस में लाभ मिला और कोर्ट से जमानत मिल गई। इस मामले में दारोगा की लापरवाही सामने आने पर उसे संस्पेंड कर दिया गया।

गौरतलब है कि बीते 16 जुलाई 2020 को तुपुदाना ओपी क्षेत्र के दर्जनों क्रशरों पर पोस्टरबाजी कर दहशत फैलाई थी। बाद में फायरिंग भी की थी। इस मामले में तुपुदाना ओपी पुलिस ने उसे 18 जुलाई 2020 को दबोच लिया था। लेकिन वह फरार हो गया। इसके बाद उसे पुलिस ने दोबारा पकड़कर जेल भेजा था। फिलहाल वह जेल में बंद है। वर्ष 2018 के एक रंगदारी के मामले में अनुसंधानकर्ता की लापरवाही सामने आने पर कार्रवाई की गई है।

मायके गई थी पत्नी, युवक ने कर ली खुदकुशी

रांची के चुटिया रेलवे कॉलोनी में रहने वाले युवक ने फंदे से झूल कर आत्महत्या कर ली। युवक का नाम राघवेंद्र सिंह (31) है वह पेशे से ड्राइवर था। मां रेलवेकर्मी है, कुछ वर्ष पहले पिता का निधन हो चुका है। जानकारी के अनुसार राघवेंद्र शनिवार की रात खाना खाकर अपने कमरे में सोने चला गया था। सुबह नहीं उठा तो मां दरवाजा खुलवाने गई। लेकिन दरवाजा नहीं खुला। खिड़की से झांकने पर वह फंदे से झूलता पाया गया।

इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया। पुलिस को जानकारी मिली है कि पत्नी से उसका अनबन हुआ था। इसके बाद पत्नी मायके चली गई थी। इस वजह से वह तनाव में रह रहा था। इधर शनिवार की देर रात फंदे से झूल कर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाया। मामले में यूडी केस दर्ज कर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है।

Edited By: Vikram Giri