झुमरीतिलैया (कोडरमा), जासं। ट्रेनों में सफर करनेवाली अकेली महिला यात्रियों की सुरक्षा को लेकर रेलवे ने उपाय शुरू कर दिए हैं। अब कोई भी महिला अकेले सफर कर रही हो तो डरने की बिल्कुल जरूरत नहीं है, क्योंकि उनकी सुरक्षा ''मेरी सहेली'' करेगी। इसके लिए धनबाद रेल मंडल के द्वारा ग्रैंड कॉर्ड सेक्शन से होकर गुजरने वाली यात्री ट्रेनों में 5-5 महिला सिपाहियों की 3 टीम गठित की गई है।

यह टीम 24 घंटे सुरक्षा और जागरूकता के अभियान में लगी है। धनबाद रेल मंडल के आरपीएफ कमांडेंट हेमन्त कुमार ने बताया कि ''मेरी सहेली'' के नाम से इस अभियान की शुरुआत हुई है। त्योहारी सीजन में ट्रेनों में भीड़ बढ़ी है। ऐसे में सफर के दौरान अकेली महिला को परेशानी न हो, इसके लिए सभी स्टेशनों पर महिलाकर्मी की प्रतिनियुक्ति की जा रही है। अकेली सफर करने वाली महिला यात्री के कोच व सीट नंबर ट्रेन में तैनात सुरक्षा बल और टीटीई दी जाएगी।

कमांडेंट ने बताया कि सुरक्षा बल अपनी सीमा तक ऐसे महिला यात्री की निगरानी करेंगे। इसके बाद अगली सुरक्षा बल को संबंधित महिला के बारे में जानकारी शेयर करेंगे, जिससे उक्त महिला को किसी तरह की परेशानी गंतव्य स्थान तक पहुंचने में न हो, और उसकी लगातार निगरानी की जा सके। अभी ट्रेनों के जरिए मानव तस्करी और नाबालिगों के घर से भागने के मामले आ रहे हैं। यह टीम ऐसे मामलों की भी निगरानी करेगी।

182 या 9771445187 पर कॉल कर दें सूचना

धनबाद रेल मंडल के कमांडेंट ने कहा कि मेरी सहेली अभियान की शुरुआत करने के पीछे का उद्देश्य यही है कि महिला अपनी परेशानी महिला को बता सकती है। उनके सुरक्षित सफर के लिए यह व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि किसी प्रकार की समस्या आने पर महिलाएं टोल फ्री नम्बर 182 और धनबाद कंट्रोल के नंबर 9771445187 पर सूचना और जानकारी दे सकती हैं। इस दौरान समय-समय पर उसका हालचाल लिया जाता रहेगा और अपराधी-मनचले पुलिस के रडार पर रहेंगे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021