रांची, जासं। Bihar Jharkhand Crime News, Jharkhand News, Ranchi News राजधानी रांची में एक युवती की लाश मिलने से सनसनी मच गई है। यह युवती अपने फेसबुक फ्रेंड से मिलने एक होटल में पहुंची थी। जहां कमरा नंबर 302 से उसकी लाश बरामद की गई। युवती के दोस्‍त को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मामला रांची के अमर हेरिटेज होटल का है।

रांची के स्टेशन रोड स्थित होटल अमर हेरिटेज में युवती की संदेहास्पद मौत के बाद होटल का कमरा नंबर 302 को सील कर दिया गया है। जबकि होटल के कमरे में लगे बेड की चादर व अन्य सामानों को एफएसएल जांच के लिए जब्त कर लिया गया है। जिसे पुलिस एफएसएल जांच के लिए भेजेगी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

गौरतलब है कि युवती अपने फेसबुक फ्रेंड से मिलने होटल अमर हेरिटेज पहुंची थी। वहां, रहने के दौरान संदेहास्पद परिस्थिति में उसकी लाश बरामद की गई। युवती की मौत के बाद उसके भाई ने दुष्कर्म के बाद जहर देकर हत्या करने का आरोप लगाया है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। जहरीले पदार्थ की जांच के लिए युवती का बिसरा सुरक्षित रखा गया है।

गौरतलब है कि युवती का फेसबुक फ्रेंड दिलवर तिर्की ओडिशा के सुंदरगढ़ के बड़ा बंडामुंडा स्थित आरएस कॉलोनी, बी. ब्लॉक निवासी धर्मराय तिर्की का पुत्र है। युवती होटल में उसी से मिलने पहुंची थी। फिलहाल दिलवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गुरुवार को उसे जेल भेजा जाएगा।

40 किलो गांजा के साथ तस्कर गिरफ्तार, बस में लादकर भेजा जा रहा था बिहार

रांची के कांटाटोली चौक स्थित खादगाढ़ा बस स्टैड से भारी मात्रा में गांजा की खेप पकड़ी गई है।40 किलो गांजा बिहार के बक्सर जाने वाली बस से बरामद किया गया है।गांजा मिलने के बाद तस्कर फरार हो गया था। हालांकि बाद में पुलिस ने तस्कर की तलाश कर उसे दबोच लिया। जानकारी के अनुसार बक्सर जाने वाली स्लीपर बस की तीन सीटें बुक की गई थी। स्लीपर सीट में दो एयरबैग व एक पिट्ठू बैग में गांजा छुपाकर रखा गया था।

पुलिस ने छापेमारी कर दबोचा

इसकी सूचना मिलते ही खादगाड़ा टीओपी प्रभारी भीम सिंह ने बस में छापेमारी की। हालांकि छापेमारी से पहले गांजा ले जाने वाले तस्कर फरार हो गए थे। लेकिन सीसीटीवी फुटेज से पहचान के बाद तस्कर को स्टैंड से ही दबोच लिया गया। वह बस स्टैंड में ही इधर-उधर घूम रहा था। पकड़ा गया आरोपित बिहार के भोजपुर जिले के आरा का रहने वाला कृष्णा सिंह है।

ओड़िशा के कोरापुट से लाया गया था गांजा

वह ओड़िशा के कोरापुट से गांजा लेकर बिहार के भोजपुर जा रहा था। पुलिस को इसकी भनक लग गई। इसके बाद दबोच लिया गया। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है कि किन तस्करों ने उसने गांजा खरीदा था। किन्हें बेचा जाना था। लोअर बाजार थाना प्रभारी सतीश कुमार ने बताया कि बस स्टैंड से लगातार गांजा की खेप पकड़ी जा रही है।

रांची से होकर बिहार भेजा जा रहा गांजा

ओड़िशा के कोरापुट से निकली गांजा की खेप इन दिनों लगातार बिहार भेजे जा रहे हैं। फलों और सब्जियों की आड़ में भी गांजा की तस्करी हो रही है। झारखंड से सटे ओड़िशा, बिहार, यूपी समेत कई राज्यों तक नशा के सौदागरों का नेटवर्क फैला हुआ है। इनका नेटवर्क इतना बड़ा हो चुका है कि फलों सब्जियों की आड़ में बड़े कंटेनर तक से गांजा की तस्करी की जा रही है।

बिहार और यूपी तक गांजा कॉरिडोर

झारखंड के कई शहरों से होते हुए बिहार और यूपी तक पूरा कॉरिडोर बना हुआ है। राज्य प्रवेश करने के बाद तस्कर गांजा की ट्रांसपोर्टिंग के लिए रिंग रोड का इस्तेमाल करते हैं। चूंकि रिंग रोड में पुलिस की नाकेबंदी कम रहती है। इसका फायदा उठाकर नशे की खेप को इधर से उधर पहुंचाना आसान होता है। फलों और सब्जियों की आड़ में गांजा की सप्लाई किए जाने पर पुलिस को चकमा देना आसान है। हालांकि खादगाढ़ा बस स्टैंड से बस में गांजा भेजने वाले कई तस्कर दबोचे गए हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021