रांची, डिजिटल डेस्क। Hemant Soren Office Of Profit Case झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की विधानसभा सदस्यता रद होगी या उन्हें क्लीनचिट मिल जाएगी? इस बात का खुलासा जल्द हो सकता है। जानकारी मिली है कि भारत निर्वाचन आयोग ने राज्यपाल रमेश बैस को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आफिस आफ प्राफिट मामले में अपनी अनुशंसा भेज दी है। राज्यपाल रमेश बैस अभी दिल्ली में हैं। वह आज गुरुवार दोपहर बाद रांची लौटेंगे। उसके बाद स्थिति स्पष्ट होने की संभावना है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश और सांसद निशिकांत दुबे ने भी इसके संकेत दिए हैं।

सांसद निशिकांत दुबे का दावा- रिपोर्ट राजभवन पहुंची

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने ट्वीट कर लिखा है - RSS के संस्कारों ने मुझे बड़ा किया। मेरा परिवार इमरजेंसी में जेल गया। भाजपा जैसी पार्टी ने मेरे जैसे छोटे कार्यकर्ता को सांसद बनाया, जिसके नेतृत्वकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमें गर्व है। मैंने पहले ही घोषणा थी कि अगस्त पार नहीं होगा, वहीं हुआ, भारत निर्वाचन आयोग का पत्र राज्यपाल रमेश बैस को पहुंच गया है।

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे का ट्वीट-

मुख्यमंत्री पर अपने नाम से खनन लीज लेने का आरोप

मालूम हो कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर आरोप है कि उन्होंने विभागीय मंत्री रहते हुए अपने नाम से खनन लीज आवंटित करा लिया है। यह खुलासा भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किया था। इसके बाद भाजपा ने इस संबंध में राज्यपाल रमेश बैस से शिकायत की थी। राज्यपाल ने भारत निर्वाचन आयोग से इस बारे में मंतव्य मांगा था। भारत निर्वाचन आयोग में इस मामले को लेकर लंबी सुनवाई चली। पिछले दिनों सुनवाई पूरी हो गई थी। तभी से यह कयास लगाया जा रहा कि चुनाव आयोग किसी भी क्षण अपना फैसला सुना सकता है। अब भाजपा सांसद निशिकांत दुबे की ओर से बताया जा रहा कि चुनाव आयोग ने अपनी रिपोर्ट राज्यपाल को भेज दी है। अगर उनकी बात सही है तो इसका खुलासा कभी भी हो सकता है।

यह भी पढ़ें:- Hemant Soren: हेमंत सोरेन व बसंत सोरेन की सदस्यता रद होने पर कौन बनेगा झारखंड का नया सीएम

दिल्ली से आज रांची लौटेंगे झारखंड राज्यपाल रमेश बैस

मालूम हो कि राज्यपाल रमेश बैस चंद रोज पहले ही दिल्ली चले गए थे। वहां उनकी मुलाकात पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से भी होने वाली थी। यह मुलाकात हुई या नहीं, इस बारे में अभी तक राजभवन की ओर से कोई जानकारी नहीं दी गई है। दिल्ली जाते समय राजभवन ने कहा था कि राज्यपाल निजी काम से दिल्ली जा रहे हैं। अब जानकारी मिल रही कि राज्यपाल रमेश बैस आज गुरुववार दोपहर बाद रांची पहुंचने वाले हैं। ऐसा माना जा रहा कि उनके आने के बाद चुनाव आयोग की रिपोर्ट से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अवगत कराया जाएगा। अगर हेमंत सोरेन के पक्ष में फैसला नहीं आता है तो झारखंड में राजनीतिक संकट खड़ा हो जाएगा। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को तत्काल अपने पद से इस्तीफा देना पड़ सकता है। ऐसी स्थिति में झामुमो-कांग्रेस गठबंधन को मुख्यमंत्री पद के लिए नया नेता का चुनाव करना पड़ सकता है।

विधायक सरयू राय का पढ़िए टवीट-

Edited By: M Ekhlaque

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट