रांची, जेएनएन। ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार गुमला की 15 वर्षीय नाबालिग को रेस्क्यू कर रांची पुलिस की टीम रांची ले आई है। सीएम द्वारा झारखंड पुलिस को निर्देश देने के बाद कोतवाली थाने स्थित एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट की एक टीम रेस्क्यू के लिए दिल्ली गई थी। दिल्ली जाकर टीम ननाबालिग को वापस ले आई है। उसे फिलहाल स्टेशन रोड स्थित प्रेम आश्रम में रखा गया है। गुरुवार को नाबालिग को सीडब्ल्यूसी के समक्ष प्रस्तुत करने के बाद गुमला भेजा जाएगा। नाबालिग को करीब 3 साल पहले मानव तस्करों ने दिल्ली में ले जाकर बेच दिया था। वहां फंसे रहने के दौरान परिजनों ने बच्ची को छुड़ाने की गुहार लगाई थी। इसके बाद सीएम के निर्देश के बाद नाबालिग वापस लाई गई।

सोनी और नाज को इलाज में मिलेगी आर्थिक मदद

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आदेश के बाद गिरिडीह निवासी 12 वर्षीय सोनी कुमारी को इलाज के लिए आर्थिक मदद की प्रक्रिया शुरू हो गई है। गिरिडीह के उपायुक्त ने सीएम को सूचित किया कि रिम्स में इलाजरत सोनी कुमारी को उच्चतर स्वास्थ्य संस्थान में बेहतर इलाज हेतु मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना के तहत राशि प्रदान की जाएगी। सोनी की दोनों किडनियां खराब हैं। आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण उसके परिजन एम्स में इलाज करा पाने में सक्षम नहीं हैं।

इधर, मुख्यमंत्री की पहल पर कैंसर पीडि़त अर्शी नाज को भी मुख्यमंत्री गंभीर रोग उपचार योजना से लाभान्वित कर दिया गया। धनबाद उपायुक्त ने सीएम को सूचना दी है कि पीडि़ता को तत्काल टाटा स्मारक हॉस्पिटल, मुंबई में इलाज के लिए 1.20 लाख रुपये स्वीकृत कर भुगतान कराया जा रहा है। धनबाद के वासेपुर, करीमगंज निवासी अर्शी नाज कैंसर से पीडि़त है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस