चंदवा (लातेहार), संसू । शादी के मंडप से दूल्हा-दुल्हन को अगवा करने की कहानी फिल्मों में देखने और सुनने को मिलती है। चंदवा में एक ऐसा ही मामला तब प्रकाश में आया जब पुलिस ने घटना में शामिल तीसरे अपराधी युवक को गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के अनुसार विगत 23 मई को थाना क्षेत्र के सुदूरवर्ती गांव में एक युवती की शादी होनी थी। जिसकी भनक उसके कथित प्रेमी विमल तुरी को हो गई। अपने प्रेमिका की शादी की बात उसे हजम नहीं हो रही थी। तब उसने दो मित्रों अशोक लोहरा (अम्बाटाड़) और पवन कुमार राम (देवीमंडप, चंदवा) के साथ मिलकर दोनों को विवाह के दिन ही अगवा करने की योजना बनाई।

योजना के अनुसार तीनों ने घटना को अंजाम भी दे दिया था। लेकिन शादी घर पहुंचे लोगों के विरोध के बीच अपराधिक किस्म के युवकों को वहां से भागने में देर हो गई। इस बीच मिली सूचना पर चंदवा थाना पुलिस वहां पहुंच गई। दूल्हा-दुल्हन को भगा कर ले जाने का प्रयास करनेवाले कथित प्रेमी कपिल और अशोक को खदेड़कर पकड़ लिया। जबकि तीसरा अपराधिक सहयोगी पुलिस को चकमा दे फरार होने में सफल रहा था। धराए दो अपराधियों को पुलिस मंडलकारा भेज उनके स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर तीसरे की गिरफ्तारी के लिए प्रयासरत थी। इसी दौरान तीसरा अपराधी भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

गिरफ्तार युवक की कोरोना जांच और आवश्यक कार्रवाई के साथ चंदवा थाना पुलिस उसे लातेहार मंडलकारा भेजने की अग्रेतर प्रक्रिया में जुटी थी। पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी मदन कुमार शर्मा ने इसकी पुष्टि की। बताया कि ग्रामीण से मिली सूचना और पुलिस की तत्परता से दूल्हा-दुल्हन को अगवा करने की योजना विफल हुई। थाना क्षेत्र की जनता इससे सबक ले और किसी तरह की अपराधिक अथवा अन्य मामलों की जानकारी पुलिस को उपलब्ध कराएं ताकि अपराध पर लगाम लगाया जा सके।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप