श्री बंशीधर नगर (गढ़वा), जासं। श्री बंशीधर नगर पंचायत क्षेत्र के वार्ड संख्या 5 नयाखाड़ गांव के चार युवकों की मौत गुरुवार की रात मछली पकड़ने के दौरान बभनीखाड़ डैम के फाटक के नीचे फंसने से हो गई। मृतकों में नयाखाड़ गांव निवासी 25 वर्षीय बब्लू उरांव, 25 वर्षीय अनिल उरांव, 17 वर्षीय अमरेश उरांव व 22 वर्षीय नागेंद्र उरांव का नाम शामिल है। घटना की सूचना मिलते ही अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रमोद कुमार केशरी, थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार दल बल के साथ मौके पर पहुंचे तथा डैम का फाटक खुलवाने के बाद डैम के फाटक में फंसे चारों युवकों को नहर के माध्यम से बाहर निकलवाया। चारों युवकों को इलाज के लिए अनुमंडलीय अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सक ने सभी को मृत घोषित कर दिया।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि सभी चारों युवक अपने पांच अन्य दोस्तों के साथ बभनीखाड़ डैम में मछली पकड़ने आए थे। डैम के फाटक के भव में जाल लेकर चार युवक बब्लू उरांव, अनिल उरांव, अमरेश उरांव व नागेंद्र उरांव उतरे। काफी देर होने के बाद भी बाहर नहीं निकलने पर उनके 3 साथी डैम के भव के अंदर घुस कर आवाज लगाई। लेकिन कोई आवाज उधर से नहीं मिलने पर अंदर घुसने का प्रयास किया। पर दम घुटने के कारण तीनों साथी बाहर निकल गए तथा अगल-बगल के लोगों को इसकी सूचना दी। घटना की सूचना मिलने के बाद डैम पर आसपास के सटे गांव के लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। पुलिस ने चारों युवकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गढ़वा भेज दिया।

चारों मृतक युवकों के साथी थाना क्षेत्र के नयाखाड़ गांव निवासी रविंद्र उराव, गुड्डू उरांव व नवलेश उरांव ने बताया कि हम सभी 9 साथी बभनीखाड़ डैम में मछली  पकड़ने आए थे। इस दौरान डैम के फाटक के नीचे चार लोग जाल लेकर घुसे। घुसने के काफी देर होने के बाद भी चारों बाहर नहीं निकले। इधर से हम लोग आवाज देते रहे। लेकिन उधर से कोई आवाज नहीं आई। हम लोग भी घुसने का प्रयास किए। लेकिन हम लोगों का दम घुटने लगा तो बाहर निकल गए और अगल-बगल के लोगों को इसकी सूचना दी।

शारदीय नवरात्रि के नवमी तिथि के की रात मछली मारने के दौरान बभनीखाड़ डैम के फाटक के भव में फंसने से चार युवकों की मौत के बाद गांव में दुर्गा पूजा व दशहरा की खुशियां मातम में बदल गई। चार युवकों की मौत से पूरा गांव शोक में डूबा हुआ है। युवकों के स्वजनों के चीत्कार से पूरा गांव गमगीन है। स्वजनों का रोते-रोते बुरा हाल है।

Edited By: Kanchan Singh