रांची, जेएनएन। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद से जुड़े चारा घोटाला मामले में सोमवार को सुनवाई हुई। डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला कांड संख्या आरसी 47ए/96 मामले की सुनवाई के दौरान सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश प्रदीप कुमार की अदालत में दो अधिकारियों की गवाही दर्ज की गई। 

सीबीआइ के एसीबी ब्रांच के तत्कालीन इंस्पेक्टर सह अनुसंधान पदाधिकारी व वर्तमान एएसपी वी लकड़ा और उत्तर प्रदेश स्थित एटा के एआरटीओ लक्ष्मण प्रसाद ने गवाही दी। वी लकड़ा की गवाही पूर्व में भी दर्ज की गई थी, आज अभियुक्तों की ओर से जिरह किया गया। इसके साथ ही उनकी गवाही पूरी हो गई।

वहीं लक्ष्मण प्रसाद ने वाहनों से संबंधित जानकारी अदालत को दी। उन्होंने बताया कि उनके यहां से सीबीआइ के एसपी ने पत्र भेजकर वाहनों के विवरण मांगे थे। जिन वाहनों की विवरण सीबीआइ को भेजे गये थे, उसमें नौ वाहन शामिल थे। इसमें नॉन कमर्शियल वाहन के साथ स्कूटर मोटरसाइकिल और ट्रैक्टर थे। उन्होंने वाहनों से संबंधित दस्तावेज भी अदालत में सत्यापित किया। इस मामले में 120 आरोपी अदालत में ट्रायल फेस कर रहे हैं। यह मामला 139.35 करोड़ रूपये की अवैध  निकासी से संबंधित है। मामले की अगली सुनवाई मंगलवार को होगी।

Posted By: Babita

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस