रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। झारखंड में मंगलवार को कोरोना वायरस का पहला मरीज मिला है। राजधानी रांची के हिंदपीढ़ी इलाके में बीते दिन बड़ी मस्जिद से पकड़ी गई मुस्लिम महिला में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। यह महिला मलेशिया की रहने वाली है। झारखंड के स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी ने महिला के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि की है। कोराेना वायरस की जांच में पाॅजिटिव पाई गई महिला तब्‍लीगी जमात से जुड़ी है। यह विदेशी महिला दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात में शामिल होकर झारखंड आई है।

कोरोना के मैप में झारखंड भी हो गया लाल

कोरोना के मैप में झारखंड भी लाल हो गया है। झारखंड भी इस वायरस के संक्रमण से अपने को बचा नहीं सका। मंगलवार को रांची के हिंदी में पहला पॉजिटिव मरीज मिली। स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी ने इसकी पुष्टि की है। बताया जाता है कि पॉजिटिव महिला विदेश में रहती थी और तबलीगी मरकज से भी जुड़ी थी। 20 वर्षीय यह महिला मलेशिया से रांची पहुंची थी। मिली जानकारी के अनुसार उक्त महिला की जांच सोमवार को ही रिम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में हुई थी। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद क्रोस मैच की गई। इसके बाद रिपोर्ट दोबारा पॉजिटिव मिली।

मलेशिया की रहने वाली महिला सोमवार को रांची के हिंदपीढ़ी में पकड़े गए 18 विदेशी लोगों में शामिल थी। कल उसकी जांच की गई थी। पुलिस ने सबकी जांच की थी। प्रशासन ने उन्‍हें आइसोलेट कर ऑब्जर्वेशन में रखा था। एसडीओ ने उनका पासपोर्ट भी जब्‍त किया था। पूरे देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं। झारखंड में यह पहला मामला है, जिसमें कोरोना का मरीज पॉजिटिव पाया गया है। रांची में जहां मलेशियन महिलाएं जमात के साथ रुकी थी, उस इलाके में प्रशासन की टीम पहुंच गई है। इलाके को सील किया जा रहा है और आसपास के घरों को सैनिटाइज किया जा रहा है।

उक्त महिला को सोमवार को जिला प्रशासन व पुलिसकर्मियों के सहयोग से हिंदपीढ़ी के बड़े मस्जिद से क्वॉरेंटाइन कर खेलगांव ले जाया गया था। बता दें कि इनमें 18 विदेश से लौटे थे जबकि 6 लोग दूसरे राज्यों से पहुंचे थे। क्वॉरेंटाइन कर खेलगांव में रखने के बाद रिम्‍स की मेडिकल टीम ने खेलगांव में ही जाकर सभी का सैंपल लिया था। इसके बाद रिम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में उक्त सैंपलों की जांच की गई थी। रिम्स निदेशक डॉ डीके सिंह ने बताया कि उक्त महिला के संपर्क में जितने भी लोग आए हैं, उन सभी का दोबारा सैंपल का जांच किया जाएगा। वहीं हिंदपीढ़ी मस्जिद के आसपास के लोगों की भी सैंपल की जांच की जाएगी।

इधर, रांची जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज की पुष्टि के बाद जिला उपायुक्त राय महिमापत रे ने लोगों से अपने अपने घरों में रहने की अपील करते हुए कहा है कि वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए अपने-अपने घरों में रहें। किसी तरह की जानकारी या मदद की जरूरत है तो जिला प्रशासन से संपर्क करें। जिला कंट्रोल रूम 1950 पर किसी भी स्थिति में आम जन संपर्क कर सकते हैं।

कोरोना की जंग में पीछे नहीं हटेंगे झारखंड के पारा मेडिकल कर्मी

झारखंड के सरकारी अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में कार्यरत नियमित एवं अनुबंध पर कार्यरत पारा मेडिकल कर्मी कोराना की जग में पीछे नहीं हटेंगे। ऑल झारखंड पारा मेडिकल एसोसिएशन ने इसे लेकर आश्वस्त किया है। संघ के अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार सिंह तथा महासचिव उपेंद्र कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री को पत्र भेजकर कहा है कि वे उनकी अपेक्षा पर खरा उतरेंगे। पारा मेडिकल कर्मियों ने अपने एक दिन का वेतन भी प्रधानमंत्री राहत कोष एवं मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की है। संघ ने प्रधानमंत्री से सुरक्षा किट उपलब्ध कराने एवं घोषित बीमा लागू करने की भी मांग की है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस