रांची, राज्य ब्यूरो। Fire In Jharkhand Assembly नए विधानसभा भवन में आग लगने से हुए नुकसान का अभी पूरी तरह आकलन नहीं किया गया है, लेकिन सरकार की ओर से एक बात स्पष्ट है कि यह ठेकेदार की परेशानी है। जब तक भवन हैंडओवर नहीं लिया जाता, तब तक की समस्याओं से सरकार को कुछ लेना-देना नहीं है। सीवरेज, ड्रेनेज, इलेक्ट्रिक अरेंजमेंट आदि दुरुस्त होने के बाद ही भवन हैंडओवर लिया जाएगा। इस दौरान कई प्रकार की विभागीय जांच की जाएगी। इधर, आग लगने के बाद भी भवन के अंदर का फायर फाइटिंग सिस्टम दुरुस्त पाया गया और इसका उपयोग आग बुझाने में भी हुआ था।

बुधवार को भवन के कुछ इलाकों में ह्वाइट वाशिंग का काम चल रहा था, जिसे शीघ्र ही पूर्ण कर लिया जाएगा। बरसात के मौसम में कुछ इलाकों में पानी के कारण भवन का रंग हल्का हो गया था। आग की इस घटना से विधानसभा के नए सत्र में कोई देरी होने के सवाल को विभागीय स्तर से सिरे से खारिज किया जा रहा है। किसी प्रकार की साजिश की बात पर विभाग को पुलिसिया जांच का भी इंतजार है। विभाग की ओर से यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि हैंडओवर से पहले के तमाम नुकसान से सरकार को कोई लेना-देना नहीं है। यह एजेंसी के जिम्मे है।

सात दिनों में विधानसभा भवन अपनी पुरानी स्थिति से बेहतर स्थिति में होगी। इस घटना की जांच की जा रही है, लेकिन इससे सत्र पर कोई असर नहीं पड़ेगा। बिना दुरुस्त हुए भवन हैंडओवर लेने का सवाल ही नहीं है-सुनील कुमार, सचिव, भवन निर्माण विभाग।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस