जागरण संवाददाता, रांची: कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) ने गुरुवार को झारखंड चैंबर भवन में कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला का आयोजन नियोक्ताओं के बीच ईएसआइसी अधिनियम के प्रावधानों, लाभ और भविष्य के बारे में जागरूक करना था। इस मौके पर ईएसआईसी, क्षेत्रीय कार्यालय के अपर आयुक्त रामजीलाल मीणा ने कहा कि नियोक्ताओं की सुविधा के लिए अब अंशदान कम कर दिया गया हैं, जिसके तहत नियोक्ता को 3.25 तथा कर्मचारी को प्वाईंट 75 प्रतिशत का अंशदान देना है।

इस दौरान ईएसआईसी के मेडिकल सुप्रिटेंडेंट डॉ सुधीर गुप्ता ने बताया कि हमारे लाभार्थी किसी अन्य अस्पताल में रेफर ना हों, इसके लिए नामकुम में सभी संसाधनों से युक्त 200 बेड का अस्पताल बनाया जा रहा है। इसके अलावा सड़क यातायात दुर्घटना, कार्यस्थल पर दुर्घटना से घायल व अन्य प्राणघातक इमरजेंसी में कर्मचारी बीमा निगम के लाभार्थी टाईअप अस्पताल में सीधे भर्ती होकर कैशलेस सुविधा का लाभ ले सकते हैं।

ईएसआइसी की डीडी पूनम बाला ने बताया कि ईएसआइसी द्वारा लाभार्थियों को चिकित्सा हितलाभ, बीमारी हितलाभ, मातृत्व हितलाभ, वृद्धावस्था चिकित्सा देखभाल, आश्रितजन हितलाभ, अपंगता हितलाभ की सुविधाएं दी जाती हैं। उन्होंने नियोक्ताओं से अपील की कि वे अपने प्रतिष्ठान के विज्ञापनों में यह प्रकाशित करें कि हमारे यहा ईएसआई की सुविधा दी जाती है।

बैठक में चैंबर अध्यक्ष कुणाल आजमानी, महासचिव धीरज तनेजा, मुकेश अग्रवाल, प्रमोद सारस्वत, किशन अग्रवाल, राजीव चौधरी, मुकेश कुमार, के पॉल, रोहित प्रसाद, ईएसआईसी से डॉ एसके मुर्मू, अभिषेक कुमार, योगेश कुमार, सौरव बोस, अंकिता पाठक, आरके वर्णवाल, जय सिंह, रौशन केरकेट्टा, जयप्रकाश प्रसाद, प्रेम प्रकाश सिन्हा, विवेक राज आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस