रांची, जासं। मंगलवार को इंडिगो के विमान (6ई 344) में सवार यात्री पायलट की सूझबूझ से बाल-बाल बचे। विमान में 150 यात्री सवार थे। विमान में सवार यात्री बेंगलुरु व कोलकाता से रांची आ रहे थे। जानकारी के अनुसार कोलकाता एयरपोर्ट से उड़ान भरने के 20-25 मिनट बाद ही पायलट विमान में तकनीकी खराबी का अहसास हुआ और पायलट ने तत्काल कोलकाता एयरपोर्ट के एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) को सूचना दी। वहां से निर्देश मिलने पर विमान को कोलकाता एयरपोर्ट पर ही उतारा।

कोलकाता एयरपोर्ट के तकनीकी विशेषज्ञों ने विमान की जांच कर तकनीकी खराबी को दूर किया। इसके बाद विमान ने कोलकाता एयरपोर्ट से रांची के लिए उड़ान भरी और लगभग 3:30 बजे बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पहुंचा। विमान के रांची पहुंचने का निर्धारित समय 12:35 बजे है।

विमान के विलंब से पहुंचने के कारण रांची से कोलकाता होते हुए बेंगलुरु के लिए जाने वाले इंडिगो के विमान (6ई 994) ने 4:20 बजे उड़ान भरी। बिरसा मुंडा एयरपोर्ट से विमान के उड़ान भरने का निर्धारित समय 1:05 बजे था। इस प्रकार, कोलकाता से रांची आने वाला इंडिगो का विमान तीन घंटे विलंब से रांची पहुंचा और तीन घंटे 15 मिनट विलंब से उड़ान भरी।

'विमान का पायलट रांची एटीसी के कंट्रोल से बाहर था। कोलकाता एयरपोर्ट से उड़ान भरने के 20-25 मिनट बाद ही पायलट को विमान में आई तकनीकी खराबी का आभास हुआ। पायलट ने तत्काल कोलकाता एटीसी से संपर्क कर विमान को कोलकाता एयरपोर्ट पर लैंड कराया। विमान में सवार सभी यात्री सुरक्षित हैं।' -विनोद शर्मा, निदेशक, बिरसा मुंडा एयरपोर्ट।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप