रांची/ बुढ़मू, राजू चौबे। अब नए साल के आगमन में जैसे-जैसे दिन कम हो रहे हैं, लोगों की उत्‍सुकता बढ़ती जा रही है। 2019 के स्वागत के लिए लोग उत्साहित हैं। हर उम्र के लोग अपने अपने तरीके से नए साल को मनाने की तैयारी में लगे हुए हैं। शहर के आसपास के फॉल पिकनिक और मस्ती के लिए लोगों की सबसे पहली पसंद बने हुए हैं। वैसे तो सैलानियों की भीड़ इन जलप्रपातों मे साल भर रहती है, लेकिन नए साल के अवसर पर यहां पर्यटकों का तांता लगा रहता है। बढ़ुमू क्षेत्र के तिरू और धोड़धोड़ा फॉल नए साल और पर्यटकों के स्वागत के लिए बिल्कुल तैयार हैं।

बुढ़मू थाना से चार किमी है दूरी धोड़धोड़ा फॉल की : धोड़धोड़ा जलप्रपात बुढ़ुमू थाना से सिर्फ चार किमी की दूरी पर स्थित है। बुढमू पंचायत के जमगाई गाव के पश्चिम की ओर जंगल के बीच कलकल कर बहती नदियॉ किसी भी सैलानी का मन मोह लेती हैं। धोड़धोड़ा जलप्रपात से कुछ ही दूरी पर स्थित है मंगरदाहा।

आसपास के ग्रामीण बताते हैं कि आज से 15 वर्ष पूर्व तक यहां मगरमच्छ काफी संख्या में थे। नदी के चारों ओर पत्थल व घने जंगल से इस पर्यटन स्थल की शोभा और बढ़ जाती है। ऐसे जाएं-अगर आप के पास वाहन नही है तो टेंपो व बस से रातू काठीटॉड होते हुए 15 किमी चल कर बुढ़मू थाना पहुॅचे। थाना से बाऐ चलकर इस चलप्रपात पर पहुंचा जा सकता है।

बुढ़ुमू थाने से तिरू फॉल की दूरी सिर्फ 7 किमी : बुाढ़मू थाना से महज सात किमी की दूरी पर है तिरू फॉल। मुख्यमार्ग से महज 20 मीटर की दूरी पर इस पर्यटन स्थल पर साल भर सैलानियों की भीड़ देखी जा सकती है। तिरू जलप्रपात मे लगभग 320 फीट की उंचाई से गिरने वाला पानी पर्यटकों का मन मोह लेता है। ग्रामीणों के अनुसार जिस जगह से पानी नीचे गिरता है उस जगह चट्टान मे एक गढ्ढा है। उसकी गहराई सात खाट के बुनने मे जितनी रस्सी लगती है उतनी बताई जाती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस