जागरण संवाददाता, रांची, तुपुदाना : रांची के हटिया में स्वर्णरेखा नदी की तेज धार में बह गए युवक सुभाष हेमरम (40) का शव रविवार को रिवर व्यू कॉलोनी के पास नदी के किनारे झाड़ियों में फंसा मिला। स्थानीय पार्षद निरंजन कुमार एवं मोहल्ले के युवक रविवार को सुबह से ही शव को खोजने के लिए टीम बनाकर लगे थे। इस बीच दोपहर दो बजे के करीब रिवर व्यू कॉलोनी के पास स्वर्णरेखा नदी की झाड़ियों में सुभाष हेमरम का शव बरामद किया गया। इसकी सूचना जगन्नाथपुर थाने की पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेजा। बीते शुक्रवार को नदी उफनाई हुई थी। इस बीच हटिया स्वर्णरेखा नदी के पास पुल पार करने के दौरान सुभाष हेमरम बह गया था। वह जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के जोजो बासा का रहने वाला था। वह मजदूरी करता था। उसके माता-पिता नहीं है। केवल एक बहन है, जिसका पालन पोषण वह खुद करता था। बहने के दौरान देख कर भी नहीं बचा पाए लोग :

जिस समय सुभाष बह रहा था, उस समय पानी का बहाव इतना तेज था कि चाहकर भी कोई उसे बचा नहीं पाया था। कुछ लोगों ने देखा और शोर मचाया। शोर सुनकर आसपास के लोग पहुंचे और उसे ढूंढना शुरू कर दिया। करीब तीन किलोमीटर की दूरी तक ढूंढा गया लेकिन सुभाष का कुछ पता नहीं चला था। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। जगन्नाथपुर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय गोताखोरों से तलाश करवाई थी। दूसरे दिन वार्ड 52 के पार्षद निरंजन कुमार ने जगन्नाथपुर थाना में एक लिखित आवेदन दिया और युवक को खोजने की गुहार लगाई। इसके बाद पुलिस ने एनडीआरएफ की टीम को बुलवाया था। शनिवार को एनडीआरएफ की टीम पहुंची और तलाश की। तलाश करती हुई टीम नामकुम तक पहुंची थी।

--------

एक वर्ष पहले कोकर में बहे युवक की अबतक नहीं मिली जानकारी :

20 सितंबर 2020 को हुई तेज बारिश में भी कोकर खोरहा टोली आइटीआइ लेन के पुलिया के ऊपर दो युवक बह गए थे। इनमें एक को स्थानीय लोगों की सूझबूझ से बचा लिया गया था। जबकि दूसरा युवक बाइक के साथ ही बह गया। युवक की जानकारी आज तक नहीं मिल पाई। युवक का नाम उमेश राणा था, वह कोकर खोरहा टोली में रहता था। जबकि मूल रूप से हजारीबाग के दारू का रहने वाला था। इस मामले में अबतक सदर थाने में गुमशुदगी का ही मामला दर्ज है। युवक की पत्नी ने पुतला बनाकर शव का अंतिम संस्कार कर दिया था।

Edited By: Jagran