रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 - विधानसभा चुनाव-2019 में उडऩ खटोला कैसे उड़ेगा, अभी तो वायु सेना के पुराने बकाये का ही भुगतान नहीं हो पाया। सरकार पर हेलीकाप्टर मद में वायु सेना का बकाया 13 करोड़, 44 लाख, 93 हजार 417 रुपये पहुंच गया है। इसमें लोकसभा चुनाव के पूर्व का नौ करोड़ 21 लाख 93 हजार 417 रुपये व लोकसभा चुनाव-2019 के दौरान खर्च राशि 4 करोड़ 23 लाख रुपये शामिल हैं। गृह विभाग ने पुलिस मुख्यालय को इस संबंध में पत्राचार किया है।

विभाग ने एडीजी आधुनिकीकरण आरके मल्लिक को लिखे पत्र में बताया है कि एयरलिफ्ट शुल्क का भुगतान मंत्रिमंडल निर्वाचन विभाग के माध्यम से होना है। इसलिए लोकसभा चुनाव-2019 के पूर्व के बकाया राशि तथा लोकसभा चुनाव के अवसर पर प्रयुक्त हेलीकाप्टर के एयरलिफ्ट चार्ज के संबंध में दस्तावेज दें, ताकि समीक्षा के बाद भुगतान के बिंदु पर निर्णय लिया जा सके।

पहले 10 करोड़ था, अब 13 करोड़ बकाया

झारखंड सरकार पर वायुसेना का का पूर्व में 10 करोड़, 73 लाख 18 हजार 917 रुपये बकाया था। सितंबर महीने में सरकार को वायुसेना से जो पत्र मिला था, उसके अनुसार लोकसभा चुनाव-2019 में वायु सेना के हेलीकाप्टर से एयरलिफ्ट शुल्क के रूप में एक करोड़, 51 लाख, 25 हजार रुपये का बकाया था। वहीं, पूर्व में एयरलिफ्ट शुल्क की बकाया राशि नौ करोड़, 21 लाख, 93 हजार 417 रुपये थी। इस तरह कुल बकाया राशि 10 करोड़ 73 लाख 18 हजार 917 रुपये हो गई थी। जबकि, अब जो पत्र मिला है, उसके अनुसार बकाया राशि 13 करोड़, 44 लाख 93 हजार 417 रुपये है।

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदानकर्मियों को कराया जाना है एयरलिफ्ट

विधानसभा चुनाव में भी वायुसेना के हेलीकाप्टर की जरूरत होगी। इसकी मांग भी की जा चुकी है। मंत्रिमंडल निर्वाचन विभाग मतदानकर्मियों को अति नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में एयरलिफ्ट कराता है, ताकि बिना किसी क्षति के शांतिपूर्ण मतदान हो सके। इसी बीच बकाया के भुगतान की भी तैयारी है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप