रांची, [संजय कुमार]। कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए अब तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जहां डेढ़ लाख से अधिक स्वयंसेवक पूरे देश में लगे हैं तो  अनुषांगिक संगठन भी पीछे नहीं हैं। अनुषांगिक संगठनों के हजारों कार्यकर्ता पूरे देश में हजारों स्थानों पर जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। एकल अभियान ने प्रतिदिन 10 हजार मास्क एवं 100 बोतल सैनिटाइजर बनवाने तो विश्व हिंदू परिषद और सेवा भारती ने लाखों लोगों को खाना खिलाने की कमान संभाल रखी है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) ने विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था की है तो विद्या भारती ने अपने हजारों स्कूलों को क्वारंटाइन सेंटर में तब्दील करने की तैयारी कर ली है। भारतीय मजदूर संघ एवं वनवासी कल्याण केंद्र भी किसी से पीछे नहीं है। 

विहिप के 20 हजार व सेवा भारती के 25 हजार कार्यकर्ता लगे हैं

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने दैनिक जागरण से बातचीत में कहा कि विश्व हिंदू परिषद के 20000 से अधिक कार्यकर्ता 250 स्थानों पर जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करा रहे हैं। तीन अप्रैल तक सात लाख लोगों को भोजन कराने के साथ ही एक लाख परिवारों को खाद्य सामग्री पहुंचा चुके हैं। रोजाना एक लाख से अधिक लोगों को भोजन कराने का लक्ष्य तय किया है। कहा, कई मंदिर व कई समाजिक संगठनों के लोग विहिप के साथ जुड़कर भी काम कर रहे हैं। वही संस्था ने देश में 50 ऐसे अस्पतालों को गोद लिया है जहां के मरीज को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। वहीं सेवा भारती के अखिल भारतीय महामंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि इस संस्था के लोग पूरे देश में एक लाख से अधिक स्थानों पर जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने का काम कर रहे हैं। अब तक 2५ लाख से अधिक लोगों तक भोजन पहुंचा चुके हैं। चार लाख मास्क का भी वितरण किया गया है।

 

विद्या भारती के 400 स्कूलों में बना आइसोलेशन वार्ड

विद्या भारती के केंद्रीय मंत्री शिव कुमार ने कहा कि देश भर में अभी तक 400 विद्यालय प्रशासन को आइसोलेशन सेंटर बनाने के लिए उपलब्ध करा दिए हैं। इसके साथ ही पूरे देश में स्कूलों के आसपास रहने वाले गरीब वर्ग के लोगों को भोजन व राशन उपलब्ध करा रहे हैं। वहीं, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि हम लोग देश भर में गरीब छात्रों की मदद कर रहे हैं। छात्रावास व घरों में रहने वाले विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन क्लासेज की व्यवस्था के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवा रहे हैं। अभाविप से देश भर में जुड़े प्रोफेसर मदद कर रहे हैं।

 

392 महिलाएं रात-दिन तैयार कर रही हैं मास्क

एकल ग्रामोत्थान फाउंडेशन के राष्ट्रीय संयोजक ललन शर्मा ने कहा कि एकल अभियान ने पूरे देश में दो लाख आठ हजार मास्क तैयार करवा कर निश्शुल्क वितरित करने का लक्ष्य तय किया है। झारखंड, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, असम एवं मध्य प्रदेश में स्थित सिलाई केंद्रों पर इसे तैयार करवाया जा रहा है। इस काम में 392 महिलाएं लगी हैं। साथ ही देसी विधि से सैनिटाइज तैयार कर निश्शुल्क वितरित किया जा रहा है।

कौन क्या कर रहा

  1. 25 लाख को सेवा भारती व 7 लाख लोगों को विहिप ने कराया भोजन
  2. प्रति दिन 10 हजार मास्क व 100 बोतल सैनिटाइजर तैयार कर रहा एकल अभियान
  3. विद्या भारती आइसोलेशन वार्ड बनाने के लिए उपलब्ध करा रहा स्कूल
  4. अभाविप विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था करा रहा

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस