जागरण संवाददाता, रांची : कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए पूरा देश एक साथ आ गया है। ऐसे में राज्य में अपने घरों में बंद आबादी का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। चिकित्सा, सुरक्षा, खाद्यान्न, समाचार पत्र आदि लोगों तक पहुंचाने के लिए एक लोग सड़कों पर उतर रहे हैं। ये कोरोना के योद्धा ऐसे वक्त में जब शहर में कोरोना का मामला सामने आ गया लोगों को उनकी खुशियां घर तक पहुंचा रहे हैं। मगर ऐसे में हमें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की सावधानी ही बचाव है।

----------

साफ-सफाई से हारेगा कोरोना

कोरोना फैलने के बाद से शहर की साफ-सफाई में लगे हुए सुधीर कहते हैं कि कोरोना एक ऐसी महामारी है जिससे लड़ने के लिए दो चीजें करने की जरूरत है। एक साफ-सफाई दूसरा अपने घर में रहें। साफ-सफाई करना हमारा काम है। हमें हमारी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखते हैं और लोगों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करते रहते हैं।

--------

हर इलाके की कर रहे सफाई

सुकरा की दिनचर्या में पिछले कुछ दिनों से काफी व्यस्त हो गयी है। कोरोना के खिलाफ जंग में वो रोज अलग अलग इलाके की साफ-सफाई कर रही हैं। वो बताते हैं कि बीमारी के संक्रमण के फैलने से रोकने के लिए वो पहले से ज्यादा संजीदगी से काम कर रहे हैं। घर के परिवार वालों को हमारी चिंता रहती है। लेकिन इस मुश्किल वक्त में हमारे कर्तव्य के आगे सब छोटा है।

-------

घर से हर रोज परिवार को निकलते हैं समझाकर

मेन रोड के पेपर स्टैंड से अखबार लेने वाले कर्मयोगी वशिष्ठ पंडित बताते हैं कि वो रोज सुबह चार बजे पेपर लेने के लिए घर से निकल जाते हैं। घर वालों को उनकी काफी चिंता होती है। मगर वो उन्हें समझाकर निकलता हूं। इस मुश्किल वक्त में अखबार बांटना काम ही नहीं, हमारा धर्म भी है।

-----

लोगों तक जानकारी के पहुंचाते हैं अखबार

बूटी मोड़ स्टैंड से अखबार लेने वाले विनय कुमार कहते हैं कि आज भी कई लोग ऐसे हैं जो खबर की विश्वसनीयता के लिए अखबार ही पढ़ते हैं। ऐसे लोगों को जानकारी पहुंचाने हमारा काम है। कोरोना को केवल जानकारी और समझ से हराया जा सकता है। हम सड़कों पर इसलिए घुमते हैं ताकि लोग इस महामारी के बारे में समझे और वो अपने घर में रहें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस