राज्य ब्यूरो, रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सिमडेगा में 11 वर्षीय बच्ची की मौत तथा धनबाद के झरिया में रिक्शा चालक की मौत के मामले में पहली बार सफाई दी है। उन्होंने दोनों मामलों में विपक्ष पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा है कि विपक्ष राज्य सरकार के विकास कार्यों को देखकर बौखला गया है। विपक्षी पार्टियां तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर न केवल लोगों को गुमराह कर रही हैं, बल्कि झारखंड को बदनाम करने का भी काम कर रही हैं।

मुख्यमंत्री ने सोमवार को प्रोजेक्ट भवन में पत्रकारों से कहा कि झरिया में जिस व्यक्ति की मौत हुई वह गरीब था और पिछले एक माह से बीमार था। सिमडेगा की बच्ची भी मलेरिया से पीड़ित थी। रिपोर्ट में यह बात सामने आ गई है। मुख्यमंत्री ने राशन कार्ड को आधार से लिंक करने को जायज ठहराया।

उन्होंने कहा कि अब तक योजनाएं बिचौलिए और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाती थीं। योजनाएं अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे इसके लिए ही उन्हें आधार से लिंक किया जा रहा है। इससे राज्य सरकार को 225 करोड़ रुपये की बचत हुई है। सभी राशन कार्ड के आधार कार्ड से लिंक होने पर सरकार के 500 करोड़ रुपये बचेंगे।

कांग्रेस को लिया निशाने पर

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए सवाल उठाया कि इस देश में इस पार्टी ने 60 साल तक शासन किया तो अबतक गरीबी क्यों नहीं मिटी? क्या इसके लिए भी मोदी सरकार जिम्मेदार है? उन्होंने कहा कि कांग्रेस परिवारवाद और वंशवाद में लीन है।

यह भी पढ़ेंः झारखंड में भाजपा को चौतरफा घेरेगा विपक्ष, बनाई रणनीति

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस