रांची, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि टाना भगत समुदाय राज्य के धरोहर हैं। इस धरोहर को बचाए रखने तथा इनका सर्वांगीण विकास उनकी प्राथमिकता में शामिल है। राज्य सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ न केवल टाना भगतों की समस्याओं को दूर करेगी बल्कि उनके सर्वांगीण विकास के लिए आवश्यक कदम उठाएगी। मुख्यमंत्री ने सोमवार को सुबह में अपने आवास पर टाना भगतों के साथ मुलाकात के क्रम में ये बातें कहीं। टाना भगतों ने भी मुख्यमंत्री को अपना आशीर्वाद और शुभकामनाएं दीं।

इधर, झारखंड प्रशासनिक सेवा संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रोजेक्ट भवन में मुख्यमंत्री से मिलकर उन्हें मुख्यमंत्री बनने की बधाई तथा नववर्ष की शुभकामनाएं दीं। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को भारत का संविधान नामक पुस्तक भी भेंट की। प्रतिनिधिमंडल में रामकुमार सिन्हा, यतींद्र प्रसाद, अविनाश कुमार, जगबंधु महथा, मनोज जायसवाल, सुनील कुमार सिंह शामिल थे। इस मौके पर मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपालजी तिवारी भी उपस्थित थे।

रसोइया और संयोजिकाएं मिलीं सीएम से, मिला आश्वासन

झारखंड प्रदेश विद्यालय रसोइया संयोजिका अध्यक्ष संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मिलकर उन्हें मुख्यमंत्री बनने की बधाई दी। साथ ही, अपनी लंबित मांगों को लेकर उनका ध्यान आकृष्ट कराया। मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया कि उनकी मांगों पर सकारात्मक रूप से विचार किया जाएगा। इनकी मांगों में मानदेय बढ़ाने, दस माह के बदले बारह माह का भुगतान आदि शामिल हैं। प्रतिनिधिमंडल में अजित प्रजापति, अनीता देवी, देवकी देवी, आशा आदि शामिल थे।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस