रांची, जासं। CM Hemant Soren Carcade Stopping Case मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन का काफिला रोकने की कोशिश में आरोपित वार्ड पार्षद रोशनी खलखो ने आज रांची सिविल कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। वह काफी दिनों से फरार चल रही थी। इधर पुलिस के बढ़ते दबाव को देखते हुए उसने सरेंडर का फैसला लिया। बता दें कि चार जनवरी को रांची के किशोरगंज चौक पर शाम में मुख्‍यमंत्री का काफिला रोकने की कोशिश की गई थी।

पिछले दिनों पुलिस ने दबाव बढ़ाने के लिए रोशनी खलखो के पति को कस्‍टडी में लिया था और उससे पूछताछ की थी। पुलिस उसके रिश्तेदारों के यहां भी दबिश बढ़ा रही थी। ऊपरी अदालत से जमानत याचिका खारिज होने के बाद भाजपा नेत्री ने सरेंडर करने का निर्णय लि‍या। रोशनी ने न्यायिक दंडाधिकारी अभिषेक प्रसाद की अदालत में सरेंडर किया। इसके बाद उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

इस मामले में अभी तक लगभग 40 लोगों को जेल भेजा जा चुका है। इसमें से 8 को जमानत मिल चुकी है। सीएम का काफिला रोकने की कोशिश करने के दौरान उग्र भीड़ ने गा‍ड़‍ियों में तोड़ फोड़ की थी। इसके अलावा पथराव में प‍ुलिसवालों को भी चोटें आई थी। इस घटना के बाद पुलिस ने पूरे शहर में चेकिंग अभियान चलाया था। आरोपितों की धरपकड़ के लिए लगातार छापेमारी की गई। कहा गया कि ओरमांझी में युवती की सिर कटी लाश मिलने के बाद आक्रोशित लोगों ने सीएम का काफिला रोकने की कोशिश की। हालांकि भीड़ सीएम का काफिला रोकने में सफल नहीं हो सकी और मुख्‍यमंत्री को सुरक्षित उनके आवास तक ले जाया गया था।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप