रांची, [राहुल गुरु]। अब कभी पालतू कुत्ता नजदीक आए तो सावधान रहिएगा। आवारा ही नहीं, अब पालतू कुत्ते भी लोगों को काट रहे हैैं। रांची सदर अस्पताल में हर दिन पालतू कुत्तों के काटने के सौ से अधिक मरीज पहुंच रहे हैैं। जबकि आवारा कुत्तों के काटने की संख्या को भी जोड़ लें तो करीब दो सौ लोग हर दिन सदर अस्पताल में एंटी रैबीज वैक्सीन लेने आ रहे हैैं।

आलम यह है कि सुबह नौ बजे सेंटर खुलने से पहले ही वैक्सीन लेने के लिए लोगों की कतार लग जाती है। जनवरी से अप्रैल तक 20 हजार से अधिक लोगों को इंजेक्शन लगाया जा चुका है। डॉग बाइट टीका सेंटर के इंचार्ज एके सिंह बताते हैं कि यहां आने वालों में स्ट्रीट डॉग व पालतू कुत्ते के शिकार लोगों की संख्या लगभग एक जैसी रहती है। औसतन यहां 200 लोगों को टीका लगाया जाता है।

इसमें लगभग 100 लोग पालतू कुत्ते के काटने के बाद टीका लगवाने आ रहे हैं। सदर अस्पताल में लोगों को इन दिनों न केवल एंटी रैबीज इंजेक्शन लगाया जाता है, बल्कि उनकी काउंसिलिंग भी की जाती है। चिकित्सक बताते हैं कि अक्सर लोग डॉग बाइट के बाद घबरा जाते हैं। इसलिए काउंसिलिंग जरूरी है।

मार्च में लगाए गए 6340 टीके

एंटी रैबीज वैक्सीन सेंटर में बीते चार माह में 22194 लोगों को वैक्सीन लगाया जा चुका है। जनवरी में 5550, फरवरी में 5282, मार्च में 6340 व अप्रैल में 5022 लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं। मई में टीका लगाने का आंकड़ा 1800 सौ पार कर चुका है।

इन आंकड़ों में पालतू कुत्ते के शिकार लोगों की संख्या लगभग आधी है। दूसरी तरफ, यहां पहुंच रहे लोगों में बच्चे व महिलाओं की संख्या ज्यादा है। गौरतलब हो कि सदर अस्पताल में एंटी रैबीज सेंटर पर सुबह नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक इंजेक्शन दिया जाता है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप