रांची, जेएनएन। Bank Strike Today 12 सूत्री मांगों को लेकर आज से बैंककर्मी दो दिवसीय हड़ताल पर है। इसे लेकर रांची के सभी बैंकों के बाहर कर्मचारी प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे पहले आईबीए के द्वारा हड़ताल टालने के लिए यूनियन के साथ गुरुवार को बैठक हुई थी, जो असफल रही।  आईबीए ने   13.50 प्रतिशत की वेतन वृद्धि का ऑफर दिया। जिसपर यूएफबीईयू ने न्यूनतम 20प्रतिशत वेतन वृद्धि की मांग की। इस बंद का असर ज्यादा व्यापक इसलिए भी होगा क्योंकि दो दिनों के हड़ताल के बाद साप्ताहिक अवकाश है। इससे लोगों की परेशानी बढ़ेगी। हड़ताल से आज 3 से 4 करोड़ का कैश लेनदेन प्रभावित होने की संभावना है।

राष्ट्रीयकृत बैंक में दो दिनी हड़ताल शुरू, करोड़ों का लेनदेन प्रभावित

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आवाहन पर देशव्यापी हड़ताल का पलामू में व्यापक प्रभाव पड़ा है ।भारतीय स्टेट बैंक समेत पीएनबी, कैमरा, इलाहाबाद ,सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदाआदि के सभी पदाधिकारी व कर्मचारी शुक्रवार से दो दिनी हड़ताल पर चले गए।  इससे बैंकों में ताला लटक रहा है। करीब 100 करोड़ का कारोबार प्रभावित हो गया है। फोरम की मांग है कि न्यू पेंशन स्कीम समाप्त हो व वेतन पुनरीक्षण लागू हो। फोरम के बैनर तले मेदनीनगर स्थित भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा परिसर में फोरम के हड़ताली पदाधिकारी कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। जमकर नारेबाजी की।

आज से दो दिन बैंककर्मी हड़ताल पर हैं। इससे राज्‍यभर के बैंकों में ताला लटका है। करोड़ों का कारोबार प्रभावित हुआ है। झारखंड की करीब चार हजार बैंक शाखाओं में कामकाज पूरी तरह बंद रखा गया है। अपनी मांगों के समर्थन में बैंककर्मी आगे मार्च में तीन दिन और फिर अप्रैल में बेमियादी हड़ताल करेंगे। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस की ओर से बुलाई गई यह हड़ताल दोदिवसीय है, जो शुक्रवार और शनिवार को प्रभावी रहेगी। सभी सार्वजनिक बैंकों की शाखाएं आज पूरी तरह बंद हैं। यहां बैंककर्मियों ने अपनी मांगों के समर्थन में आवाज बुलंद की।

यूएफबीयू की ओर से की गई 12 सूत्री मांगों में पांच दिवसीय बैंकिंग, समान काम के बदले समान वेतन, रिटायरमेंट लाभ को आयकर से मुक्‍त करना, मूल वेतन में विशेष भत्‍ता का मर्जर, अपडेट पेंशन, पारिवारिक पेंशन में बढ़ोतरी, नए पेंशन स्‍कीम को रद करना, बैंकिंग कारोबार की अवधि एक समान तय करना और अधिकारियों के लिए नियत कार्य अविध तय करना आदि शामिल है।

इधर दो दिनों की हड़ताल और फिर रविवार की बंदी के कारण लगातार तीन दिन बैंक बंद रहेंगे। ऐसे में लोगों को कैश की कमी से जूझना पड़ सकता है। हालांकि बैंक प्रबंधन की ओर से दावा किया गया है कि बैंककर्मियों के हड़ताल से सामान्‍य बैंकिंग कामकाज यथा अकाउंट ओपनिंग, चेक क्लियरेंस, ड्राफ्ट, एनइएफटी-आरटीजीएस आदि प्रभावित होगा, लेकिन तमाम एटीएम को कैश से लैस कर दिया गया है। इधर तीन दिनों की लगातार बंदी के कारण एटीएम पर सुबह से ही लोगों की खासी भीड़ देखी गई।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस