रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Lockdown झारखंड में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए बैंकों ने अपने कामकाज की अवधि और क्षमता में कमी की है। बैंकों अब आधी क्षमता के साथ काम करेंगे और कामकाज की अवधि सुबह दस से दोपहर दो बजे तक होगी। फिलहाल यह व्यवस्था 22 से 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेगी। 30 अप्रैल को समीक्षा के बाद आगे का निर्णय लिया जाएगा।

झारखंड राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की ओर से इस बाबत दिशा निर्देश जारी किया गया है। बता दें कि झारखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार इजाफा होता जा रहा है और अब इसकी चपेट में बड़ी संख्या में बैंक कर्मी भी आ रहे हैं।

बैंकों के लिए जारी गाइडलाइन में स्पष्ट रूप से 50 फीसद कर्मचारियों के साथ कामकाज के लिए चार घंटे की अवधि निर्धारित की गई है। हालांकि ग्राहकों को तकलीफ न हो और बैंकिंग कामकाज भी प्रभावित न हो इसका भी पूरा ख्याल रखा गया है। करेंट चेस्ट, एटीएम, कैश लोडिंग वेंडर, डाटा सेंटर, सर्विस ब्रॉन्च, बैंक ट्रेजरी ऑफिस पहले की ही तरह काम करेंगे।

बैंकों में कार्यरत गर्भवती महिलाएं, दिव्यांग बच्चों के अभिभावकों के लिए वर्क फार्म होम का विकल्प मुहैया कराया गया है। एसएलबीसी की ओर से ग्राहकों को भी सलाह दी गई है कि वे संक्रमण की अवधि में ज्यादा से ज्यादा बैंकिंग कामकाज के लिए डिजिटल तंत्र का उपयोग करें।

अग्रणी बैंक प्रबंधक इंदु भूषण लाल ने बताया कि बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए गुरुवार से बैंक का कार्य सुबह दस बजे से अपराह्न दो बजे तक ही संचालन किया जाएगा । उन्होंने कहा कि राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के निर्देश पर समय परिवर्तित किया गया है । उन्होंने कहा कि 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक बैंक का कार्य दिवस दस से चार के जगह पर दस से दो बजे तक ही होगा । अग्रणी बैंक प्रबंधक ने बैंक आने वाले सभी लोगों से अपील करते हुए कहा है कि अति आवश्यक कार्य के लिए ही बैंक की शाखा में पहुंचे । बैंक आने के दौरान कोरोना के सभी गाइडलाइन का पालन करें । बैंक परिसर में शारीरिक दूरी अवश्य बनाएं ।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप