रांची : गिरिडीह जिले के सरिया और देवरी प्रखंड में जहरीली शराब से हुई मौतों पर झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने राज्य सरकार को घेरा है। रविवार को डिबडिह कार्यालय में मीडिया से बातचीत में उन्होंने 15 लोगों की जहरीली शराब से हुई मृत्यु पर दुख व्यक्त किया और सरकार पर आरोप लगाया कि सबकुछ जानते हुए उसने कुछ नहीं किया। उन्होंने पस्ष्ट किया कि यदि सरकार इस मामले को गंभीरता से लेती, तो निश्चित रूप से समस्या का सही समाधान निकल सकता था, पर ऐसा नहीं हुआ।

सवाल भी उठाया कि कहीं सरकार की संलिप्तता भी तो अवैध शराब कारोबारियों के साथ नहीं है। बाबूलाल ने राज्य में शराब बंदी की वकालत की कहा, इस दिशा में सरकार कदम उठाए हमारा उसे पूरा सपोर्ट होगा।

बाबूलाल ने कहा कि अवैध शराब का कारोबार पूरे प्रदेश में धड़ल्ले से चल रहा है और सबकुछ जानते हुए सरकार कुछ नहीं कर रही है। कहा, स्पेशल ब्रांच पहले से ही सूचना दे रहा है कि कहां-कहां अवैध शराब बनती है, कहां उसकी बिक्री होती है। इसके बावजूद बावजूद कार्रवाई नहीं होती। सीधी सी बात है, ऐसे मामलों में सरकार भी अपराधी है। सबकुछ जानते हुए कार्रवाई न होने का परिणाम यह है कि यहां लोग मर रहे हैं। आए दिन एक्सीडेंट से भी जो लोग मरते हैं उसमें भी अधिकतर एक्सीडेंट का कारण शराब ही होती है। हम सरकार से मांग करते हैं कि स्पेशल ब्रांच के आधार पर जो सूचना उसके पास है, उस आधार पर तत्काल सरकार कार्रवाई करे। इतना ही नहीं जिन लोगों की मृत्यु हुई है उनके परिवार की भी सरकार चिंता करे। बाबूलाल ने स्पष्ट कहा कि राज्य में खुलेआम हो रही शराब की बिक्री पर रोक लगनी चाहिए। सरकार को इसे बंद करना चाहिए। नहीं तो झारखंड की जेनरेशन है वह खत्म हो जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस