Move to Jagran APP

झारखंड में विधानसभा चुनाव की आहट तेज, दो से तीन फेज में हो सकती वोटिंग; ECI ने की अहम बैठक

लोकसभा चुनाव के बाद अब झारखंड में विधानसभा चुनाव की आहटें तेज हो गई है। एक ओर जहां पार्टियां अपनी जीत की तैयारियों को लेकर रणनीति सेट करने में लगी है तो वहीं निर्वाचन आयोग की टीम भी चुनाव की तैयारी में जुट गई है। गुरुवार को भारत निर्वाचन आयोग की टीम दो दिवसीय झारखंड दौरे पर पहुंची। इस दौरान सभी जिलों के उपायुक्तों को तैयार रहने के लिए कहा।

By Neeraj Ambastha Edited By: Shashank Shekhar Thu, 11 Jul 2024 08:07 PM (IST)
विधानसभा चुनाव को लेकर रहें तैयार- चुनाव आयोग। फाइल फोटो

राज्य ब्यूरो, रांची। भारत निर्वाचन आयोग की टीम ने राज्य के सभी जिलों के उपायुक्त सह जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को विधानसभा चुनाव को लेकर तैयार रहने को कहा है। साथ ही विधानसभा चुनाव को लेकर राज्य में चल रहे मतदाता सूची विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम को समय पर पूरा करने तथा पूरी तरह त्रुटिरहित एवं समावेशी मतदाता सूची तैयार करने को कहा है।

दो दिवसीय दौरे पर झारखंड पहुंची टीम ने शुक्रवार को पतरातू स्थित पर्यटन विभाग के सभागार में उपायुक्तों से कहा कि विधानसभा चुनाव में कोई भी योग्य मतदाता अपने मताधिकार से वंचित न हों, इसे लेकर मतदाता सूची की सारी गड़बड़ियां दूर होनी चाहिए। मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्यक्रम जितना दक्षतापूर्वक और त्रुटि रहित होगा, मतदान प्रतिशत उतना ही बेहतर होगा।

पांच से कम चरण में होगा चुनाव- मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी

विधानसभा चुनाव समय पर या समय से पहले होगा, इस पर आयोग के अधिकारियों ने बात करने से परहेज किया। अलबत्ता मीडिया से बात करते हुए राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के. रवि कुमार ने जरूर कहा कि इस बार पांच से कम चरणों में चुनाव होगा। समय से पहले चुनाव के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसपर कुछ भी बोलना उचित नहीं होगा।

आयोग के वरीय उप निर्वाचन आयुक्त धर्मेंद्र शर्मा एवं नितेश व्यास की अध्यक्षता में हुई बैठक में सभी जिलों के उपायुक्तों ने पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से मतदाता सूची द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम की प्रगति की जानकारी दी।

बैठक में आयोग के पदाधिकारियों ने मतदाता सूची के अद्यतीकरण, घर-घर सत्यापन, डिजिटाइजेशन, पुराने लेमिनेटेड मतदाता पहचान पत्र के नवीनीकरण, पहचान पत्रों के वितरण, मतदान केंद्रों पर आवश्यक न्यूनतम सुविधाओं, जन शिकायतों के निस्तारण की स्थिति एवं लोकसभा निर्वाचन में मतदान प्रतिशत जैसे विषयों पर विस्तृत समीक्षा की एवं जरूरी दिशा निर्देश भी दिए। वरीय उप निर्वाचन आयुक्तों ने सभी प्रकार के मतदाता पंजीकरण से जुडे लंबित आवेदनों को मिशन मोड में निष्पादित करने को कहा।

उपायुक्तों से कहा कि सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी युवाओं, दिव्यांगजनों, महिलाओं, पीवीटीजी आदि वर्गों को मतदाता सूची में पंजीकृत करवाने के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलाकर समावेशी मतदाता सूची बनाने की दिशा में हर संभव प्रयास करें। साथ ही विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों के शत-प्रतिशत छात्रों का मतदाता सूची में पंजीकरण करवाने को लेकर सभी जिले प्रभावी पहल करें।

BLO और मतदाताओं के बीच समन्वय बढ़ान पर जोर

टीम ने बीएलओ एवं मतदाताओं के बीच समन्वय बढ़ाने की दिशा में कार्य करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया। इससे पहले आयोग की टीम ने झारखंड में शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष लोकसभा निर्वाचन संपन्न कराने पर देश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त की ओर से झारखंड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एवं पूरे राज्य की निर्वाचन टीम को बधाई दी।

बैठक में भारत निर्वाचन आयोग के प्रधान सचिव अरविंद आनंद, झारखंड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के. रवि कुमार, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संदीप सिंह, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डा. नेहा अरोड़ा आदि भी उपस्थित थे।

राजनीतिक दलों के साथ करें नियमित बैठक, शिकायतों पर लें संज्ञान

आयोग की टीम ने सभी उपायुक्तों को निर्देश दिया कि वे राजनीतिक दलों के साथ नियमित अंतराल पर बैठक करते रहें तथा उनके द्वारा बताए गए बिंदुओं पर समुचित कार्रवाई भी करें।

मतदाता पंजीकरण या मतदाता पहचान पत्र से जुड़ी सभी जनशिकायतों का भी समय पर निराकरण करें। भले ही ये शिकायत किसी भी माध्यम से प्राप्त हुई हो।

500 से अधिक मतदाता वाली हाउसिंग सोसाइटी में बने मतदान केंद्र

वरीय मुख्य निर्वाचन आयुक्त नितेश व्यास ने कहा कि राज्य के शहरी क्षेत्रों की वैसी हाउसिंग सोसाइटी जहां 500 से अधिक मतदाता हैं, वहां मतदान केंद्र बनाएं।

मतदाता पहचान पत्रों के वितरण कार्य की भी नियमित निगरानी हो। मतदाता पंजीकरण के बाद यदि मतदाता पहचान पत्र वितरण में निर्धारित समय से अधिक विलंब होता है तो पोस्ट आफिस के साथ समन्वय कर इस कार्य में तेजी लाएं।

ये भी पढ़ें- 

'लुटेरी है यह सरकार...', हेमंत सोरेन पर फिर बरसे बाबूलाल मरांडी, भाजपा कार्यकर्ताओं को दिया ये बड़ा टारगेट

झारखंड में BJP के साथ 'खेला' करेंगे सरयू राय? इस कद्दावर नेता को अपनी पार्टी में करा सकते हैं शामिल