Move to Jagran APP

Alamgir Alam: बिन विभाग मंत्री आलमगीर करा रहे Congress की किरकिरी, जल्द हो सकता है मंत्रिमंडल से हटाने पर फैसला

टेंडर कमीशन घोटाले में जेल में बंद राज्य के मंत्री आलमगीर आलम की वजह से कांग्रेस की खूब किरकिरी हो रही है और लोकसभा चुनाव के दौरान भी कांग्रेस की खूब फजीहत हुई। मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन ने कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आमल से सारे विभाग छीन लिए हैं लेकिन वे मंत्री पद से अभी हटाए नहीं गए हैं। इस कारण वह विपक्षी पार्टियों के निशाने पर रहे।

By Pradeep singh Edited By: Shoyeb Ahmed Published: Mon, 10 Jun 2024 12:38 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 12:38 PM (IST)
बिन विभाग मंत्री आलमगीर करा रहे Congress की किरकिरी (File Photo)

राज्य ब्यूरो, रांची। कमीशन घोटाले में जेल में बंद राज्य के मंत्री आलमगीर आलम की वजह से लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस की खूब फजीहत हुई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत भाजपा के प्रमुख स्टार प्रचारकों ने उन्हें अपने भाषण के केंद्र में रखा। सभाओं में उनके कृत्य की खूब चर्चा भी होती थी।

चुनाव समाप्त होने के बाद भी उनकी आड़ में झारखंड की झामुमो गठबंधन सरकार पर भाजपा निशाना साध रही है। मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन ने कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आमल के सारे विभाग अवश्य छीन लिए लेकिन वे मंत्री पद से नहीं हटाए गए। बिना विभाग के मंत्री बने हुए हैं और जेल में बंद हैं।

सरकार करना चाहती है आलमगीर के खिलाफ कार्रवाई

दरअसल, आमलगीर आमल को चम्पाई सोरेन के मंत्रिमंडल से हटाने के लिए कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व की सहमति आवश्यक है। दिल्ली से हरी झंडी मिलने के बाद ही सरकार उनके विरुद्ध कार्रवाई करना चाहती है।

मंत्री पद से हटाए जाने के बाद कांग्रेस विधायक दल के नेता पद से भी उनकी छुट्टी होगी। उनके स्थान पर दल के किसी अन्य वरीय विधायक को जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

जल्दी इस्तीफा देंगे आलमगीर आलम

कांग्रेस के प्रदेश नेतृत्व से भी इस संबंध में विमर्श किया गया है। कहा जा रहा है कि आलमगीर आलम जल्द ही इस्तीफा देंगे। उधर, विभाग छीनने के बावजूद आलमगीर आलम को मंत्री पद से नहीं हटाए जाने को लेकर भाजपा ने मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन पर प्रहार करते हुए उन्हें मजबूर मुख्यमंत्री बताया है।

ऐसे में जाहिर है कि निर्णय लेने में जितनी देरी होगी, भाजपा सरकार के प्रति उतना ही हमलावर होगी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि भ्रष्टाचार उजागर हो जाने के बाद भी मुख्यमंत्री अपने मंत्रिमंडल सहयोगी आलमगीर आलम को मंत्री पद से हटाने की हिम्मत नहीं कर रहे हैं। वे कठपुतली सीएम हैं।

इरफान अंसारी को मिल सकता है मौका

आलमगीर आलम को अगर मंत्रिमंडल से हटाया गया तो अल्पसंख्यक समुदाय से पद भरकर भरपाई की जाएगी। ऐसे में जामताड़ा के कांग्रेस विधायक डॉ. इरफान अंसारी को मौका मिल सकता है। वे मंत्री बनाए जा सकते हैं।

इरफान अंसारी ने लोकसभा चुनाव में अपने विधानसभा क्षेत्र से झामुमो प्रत्याशी नलिन सोरेन को शानदार बढ़त दिलाई है। वे प्रदेश कांग्रेस के वरीय नेताओं के साथ आलाकमान से भी संपर्क में हैं।

ये भी पढ़ें-

Alamgir Alam: आलमगीर आलम पर चला CM चंपई सोरेन का चाबुक! वापस लिए आवंटित किए गए सभी विभाग

झारखंड में ED का एक और बड़ा एक्शन, अब इस नेता समेत दो और लोगों की संपत्ति करेगी जब्त


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.