रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। उन्नत खेती के गुर सीखने के लिए इजरायल गया 24 किसानों का दल रविवार को वापस रांची लौट आया। पाकुड़ उपायुक्त कुलदीप चौधरी के नेतृत्व में किसानों की टीम 15 अक्टूबर को इजरायल के लिए रवाना हुई थी। टीम ने 16 से 19 अक्टूबर के मध्य इजरायल के विभिन्न प्रांतों का दौरा कर खेती व पैकेजिंग से जुड़े पहलुओं को जाना और समझा।

रांची एयरपोर्ट पर कृषि विभाग के संयुक्त सचिव प्रदीप कुमार हजारे और मुख्य कार्यपालक अधिकारी आरपी सिंह ने इजरायल से वापस लौटे किसानों का स्वागत किया। वापस लौटे सभी किसानों को प्रमाणपत्र भी दिया गया। आरपी सिंह ने बताया कि अब तक 95 किसान और 20 पदाधिकारी चार सत्र में इजरायल का भ्रमण कर चुके हैं। इधर, कृषि सचिव पूजा सिंघल ने कहा कि किसानों की इजरायल यात्रा से राज्य के कृषि क्षेत्र में बड़ा बदलाव आएगा।

किसानों ने साझा किए अनुभव

इजरायल से वापस लौटे किसानों ने एयरपोर्ट पर अपने अनुभव भी साझा किए। उन्होंने बताया कि इजरायल में सतालू, केला, नारंगी, एवोकाडो की उन्नत तकनीक की खेती के साथ-साथ पैकेजिंग की भी जानकारी हासिल की। अनार की उन्नत खेती ने किसानों को खासा आकर्षित किया। किसानों ने बताया कि इजरायल में बाजार की मांग के अनुरूप उत्पादन किया जाता है। झारखंड में बाजार की मांग के अनुसार उत्पादन कर किसान अधिक मुनाफा अर्जित कर सकते हैं।

ये किसान गए थे इजरायल

इजरायल दौरे पर गए 24 किसानों के दल में देवघर से अंबिका प्रसाद कुशवाहा व राजेंद्र यादव, गोड्डा से नीतीश आनंद व शशिकर झा, दुमका से रमेश हांसदा, साहिबगंज से राजेश कुमार यादव व रमेशचंद्र रविदास, पश्चिमी सिंहभूम से रमेश पूर्ति व मार्कस बोदरा, पूर्वी सिंहभूम से राम प्रताप महतो व सिदम चंद्र मुर्मू, गढ़वा से आनंद कुमार व धर्मेंद्र कुमार मेहता, गुमला से अनिम मिंज, खूंटी से दिलीप कुमार व तुलसी महतो, लातेहार से मिथेंद्र लकड़ा, रांची से अरुण चंद्र गुप्ता, सुखदेव उरांव व गनसु महतो, गिरिडीह से कुमार विवेकानंद व लक्ष्मण महतो तथा धनबाद से जगदीश रजक व रघुनंदन कुमार शामिल थे।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप