रांची, जासं। Radio Khanchi, Jharkhand News रेडियो खांची 90.4 एफएम को छात्रों के करियर काउंसलिंग के लिए एक नया प्रोजेक्ट मिला है, जो कॉमनवेल्थ एजुकेशनल सेंटर फॉर एशिया (सिमका) नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित है। इसने पूरे देश में 10 सामुदायिक रेडियो स्टेशनों का इस कार्य के लिए चयन किया है। इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत रेडियो खांची विद्यार्थियों के लिए देश के जाने माने करियर काउंसलर डॉ. एचएस राघव डेढ़ महीने तक उनके पूछे हुए सवालों का जवाब देंगे। इससे कि सुनने वाले सभी श्रोताओं को उनके करियर गाइडेंस में मदद मिलेगी।

इस प्रोजेक्ट का जो मौलिक कांसेप्ट है, वह यह है कि कोविड-19 महामारी के समय विद्यार्थियों को घर में ही रह कर पढ़ाई लिखाई तथा अपने करियर की तैयारी करनी पड़ रही है। ऐसे में उनका बाहर के परिवेश से संबंध नहीं स्थापित हो पा रहा है। अतः कई बार उनमें निराशा का भाव भी देखा जा रहा है। इसी समस्या के समाधान के लिए यह प्रोजेक्ट, जिसका टाइटल है, करियर काउंसलिंग फॉर यूथ का आयोजन किया जा रहा है। इसका प्रसारण सोमवार 17 मई से प्रातः 10:30 बजे तथा रात्रि में 8:30 बजे किया जाएगा।

इसमें कोई भी विद्यार्थी अपने करियर से संबंधित सवाल पूछ सकता है और उसके लिए उसे 94720 86904 पर कॉल करके या मैसेज करके अपना नाम, कक्षा, पता तथा प्रश्न भेजना है। प्रोजेक्ट के मिलने के उपरांत रांची विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर कामिनी कुमार ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि रेडियो खांची छात्र हित में अनेक कार्यक्रमों का आयोजन करता आ रहा है और इस करियर काउंसलिंग के प्रोजेक्ट से विद्यार्थियों को बहुत फायदा होगा। 

उन्होंने इस प्रोजेक्ट को पाने के लिए रेडियो खांची की पूरी टीम को बधाई दी। इस अवसर पर डॉ. ज्योति कुमार निदेशक यूजीसी एचआरडीसी, डॉ. एमसी मेहता कुलसचिव, डॉक्टर प्रीतम कुमार सहायक कुलसचिव, डॉक्टर राजकुमार शर्मा डीएसडब्ल्यू, डॉ. आशीष झा परीक्षा नियंत्रक, डॉक्टर केएन शाहदेव वित्त पदाधिकारी, डॉ. राजेश कुमार सीसीडीसी, डॉक्टर बृजेश कुमार एनएसएस पदाधिकारी ने प्रसन्नता जाहिर की है।

इस प्रोजेक्ट के संबंध में रेडियो खांची 90.4 एफएम के निदेशक डॉ. आनंद कुमार ठाकुर ने बताया कि करीब 6 महीने से इस करियर काउंसलिंग प्रोजेक्ट के लिए सिमका जैसे संस्थान से संपर्क साधा जा रहा था। रेडियो खांची अपने सभी प्रोजेक्ट में बहुत जी जान से मेहनत करता है और इसमें विश्वविद्यालय का बहुत सहयोग रहता है। इसीलिए यह प्रोजेक्ट प्राप्त हो सका।