राज्य ब्यूरो, रांची : लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के तहत सोमवार को रांची लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए मत डाले जाएंगे। क्षेत्र के 19,10,955 मतदाता चुनाव मैदान में खड़े 20 प्रत्याशियों की तकदीर लिखेंगे। इनमें पुरुष मतदाता 9,98,392, जबकि महिला मतदाता 9,12,510 है। 38710 नए मतदाता और 53 थर्ड जेंडर भी इनमें शामिल हैं। वोट शहरी क्षेत्रों के 967 तथा ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए 1,409 बूथों (कुल 2,376 बूथ) पर सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक पड़ेंगे। चुनाव में पूर्व केंद्रीय मंत्री सह महागठबंधन प्रत्याशी सुबोधकांत सहाय, वर्तमान सांसद रामटहल चौधरी व झारखंड राज्य खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष सह भाजपा प्रत्याशी संजय सेठ की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है।

------

कब, कौन रहे विजेता

- 1989 सुबोधकांत सहाय (जनता दल)

- 1991 रामटहल चौधरी (भाजपा)

- 1996 रामटहल चौधरी (भाजपा)

- 1998 रामटहल चौधरी (भाजपा)

- 1999 रामटहल चौधरी (भाजपा)

- 2004 सुबोधकांत सहाय (कांग्रेस)

- 2009 सुबोधकांत सहाय (भाजपा)

- 2014 रामटहल चौधरी (भाजपा)

-----------------------

सुबोधकांत सहाय

मजबूती

- शिक्षित, अनुभवी और सक्रिय राजनेता

- रांची में सेक्युलर राजनीति का सबसे प्रमुख चेहरा

- मुस्लिम, ईसाई और आदिवासी वोटरों की नाराजगी को भुनाने का मौका कमजोरी

- जातीय वोटों का अपेक्षाकृत सीमित आधार

- कम्युनिकेशन के मॉडर्न टूल्स का बेहतर इस्तेमाल नहीं

- अपेक्षाकृत कमजोर केंद्रीय नेतृत्व व प्रदेश स्तर पर कांग्रेस की सांगठनिक कमजोरियां

---

संजय सेठ

मजबूती

- पंचायत से लेकर राज्य स्तर तक पर भाजपा की सांगठनिक मजबूती।

- कम्युनिकेशन के मॉडर्न टूल्स का बेहतर इस्तेमाल। बेहतर बूथ मैनेजमेंट।

- फंड, फंक्शन और फंक्शनरीज की ताकत।

कमजोरी

- रांची संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के लिए नया चेहरा।

- भाजपा में सक्रिय रहे, परंतु मतदाताओं के बीच अपेक्षाकृत कम लोकप्रियता।

- कैडर वोट को समेटना चुनौती। रामटहल कर सकते हैं सेंधमारी।

---

रामटहल चौधरी

मजबूती

- रांची संसदीय क्षेत्र का पांच बाड़ प्रतिनिधित्व करने से गांव-गिरांव में अच्छी पहचान।

- कुर्मी वोटरों का बड़ा आधार।

- भाजपा में रहकर भी सरकार के गलत निर्णयों के खिलाफ समर्थकों के साथ करते रहे आवाज बुलंद।

कमजोरी

- सांसद के रूप में नन परफार्मर।

- निजी कम्युनिकेशन सिस्टम अपेक्षाकृत कमजोर।

- कुर्मियों को आदिवासी का दर्जा दिए जाने के हिमायती। इससे आदिवासी वोटर हैं नाराज।

----------------------

2014 में किस दल की थी क्या स्थिति

दल प्रत्याशी मत

भाजपा रामटहल चौधरी 4,48,729

कांग्रेस सुबोधकांत सहाय 2,49,426

आजसू सुदेश कु. महतो 1,42,560

झाविमो अमिताभ चौधरी 67,712

तृणमूल कांग्रेस बंधु तिर्की 46,129

--------------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस