रांची : राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि पर्यावरण को लेकर पूरा विश्व चिंतित है। पर्यावरण की स्थिति बेहतर बनाना सिर्फ सरकार का एजेंडा बन कर न रह जाए। इसके लिए सभी को अपने स्तर से प्रयास करना होगा।

मंगलवार को यहां आड्रे हाउस में युगांतर भारती व नेचर फाउंडेशन की ओर से आयोजित पर्यावरण मेले का उद्घाटन करते हुए राज्यपाल ने कहा कि अमेरिका में फटे ज्वालामुखी को टीवी पर देखकर मैं बहुत भयभीत हो गई और सोचने लगी कि क्या हमारा भी यही भविष्य होगा। हमें पर्यावरण को लेकर अभी से सचेत होना होगा। लेकिन दुर्भाग्य है कि हम लोग सेल्फिस (स्वार्थी) हो गए हैं। हम सिर्फ आज के बारे में ही सोच रहे हैं लेकिन हमें कल के बारे में भी सोचना होगा। झारखंड जंगल का प्रदेश हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर जंगल समाप्त हुए तो यहां की जनजातियों का भी अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। रांची बिहार के समय में गर्मी की राजधानी थी। मौसम अच्छा रहता था। लेकिन 18 साल में रांची का मौसम बहुत बदल गया है। अगर ऐसे ही चलता रहा तो आगे क्या होगा। उन्होंने कहा कि सभी को अपने घरों के पास बची जमीन में पौधे लगाने चाहिए।

सिर्फ चिंता नहीं, काम भी करें : अर्जुन मुंडा

पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि पर्यावरण को लेकर बुद्धिजीवी लोग चर्चा तो करते हैं लेकिन सबसे ज्यादा इसका उल्लंघन वही लोग करते हैं। हम पर्यावरण की समस्या को लेकर सिर्फ बोल रहे हैं लेकिन इसका कारण क्या है इसके बारे में जानने का कोई प्रयास नहीं कर रहा है।

सरकार की लापरवाही से पर्यावरण को नुकसान : सरयू राय

खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने कहा कि धरती का तापमान बढ़ रहा है तो उसको कम करने का हमें उपाय करना होगा। प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड अगर सशक्त होकर काम करे तो इस पर काबू पाया जा सकता है। प्रदूषण के लिए निजी के साथ-साथ सरकारी उपक्रम भी जिम्मेदार हैं। सड़क चौड़ीकरण के नाम पर कट रहे पेड़ों पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार को पास में ही जमीन का अधिग्रहण करना चाहिए और पुराने पेड़ों को नहीं काटना चाहिए। इस बाबत उन्होंने केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से भी बातचीत की है। नई तकनीक से भी पर्यावरण की सुरक्षा संभव है।

नियम तो बने लेकिन लागू नहीं : एसपी सिंह परिहार

केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष एसपी सिंह परिहार ने कहा कि प्रदूषण रोकने के लिए कई नियम बनाए गए हैं। लेकिन इसको सही तरीके लागू नहीं किया जाता है। इसकी वजह से प्रदूषण फैल रहा है।

इससे पूर्व युगांतर भारती की अध्यक्षा मधु सिंह ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। आड्रे हाउस में पर्यावरण मेला पांच जून तक चलेगा। जिसमें कई तरह की प्रदर्शनी भी लगाई गई है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021