रांची, जागरण संवाददाता। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद मनोज कुमार राय उर्फ मोहित सिंह को नौकरी नहीं मिली, तो सेक्स रैकेट चलाने का कारोबार करने लगा। मनोज गोरखपुर के एक कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई किया है। उसने ने अपने सगे भाई प्रवीण राय को भी इस कारोबार में जोड़ लिया। दोनों सगे भाई एक साथ मिलकर सेक्स रैकेट चलाने लगे। इस कारोबार में पांच लोग पार्टनर हैं, जिसमें दोनों सगे भाई के अलावा रुपेश सिंह उर्फ अनिश सिंह और दो युवतियां शामिल हैं। उक्त जानकारी सिटी डीएसपी आरके मेहता ने दी। उन्होंने कहा कि ग्राहक से मिले पैसे को पांचों पार्टनर आपस में बंटवारा करते थे। आठ फरवरी को छापेमारी के दौरान पुलिस ने कुल सात लोगों को होटल अवतार से गिरफ्तार किया है। इनमें दो युवतियां भी शामिल थीं। छापेमारी टीम में चुटिया इंस्पेक्टर अनिल कुमार कर्ण, महिला थाना प्रभारी दीपिका प्रसाद, एसआई गुप्तेश्वर राम, एएसआई श्याम बिहारी रजक समेत अन्य पुलिसकर्मी मौजूद थे।

रांची आने से पूर्व कोलकाता में करता था कारोबार सिटी डीएसपी ने बताया कि यह गिरोह रांची आने से पूर्व कोलकाता में देह व्यापार का कारोबार करता था। दो वर्ष तक कोलकाता में काम करने के बाद वर्ष 2017 में रांची आया था। रांची के कई लोकल लिंक का मोबाइल नंबर भी पुलिस को उपलब्ध कराया है, जिसकी मदद से इस कारोबार को जमा लिया था। बिहार लिंक के बारे में गिरफ्तार लोगों ने बताया कि बदनामी के डर से बिहार में देह व्यापार का कारोबार नहीं करते थे।

ये सामान हुअा बरामद 

ऑल्टो कार, दो बाइक, स्कूटी, 14 मोबाइल, गर्भ निरोधक दवा, 37,300 रुपये नकद, कोलकाता से रांची का टिकट दो पीस और आपत्तिजनक सामान

13 माह में कमाए 22 लाख

पुलिस सूत्रों की मानें, तो गिरफ्तार सरगना बक्सर के चौसा थाना अंतर्गत चक्रहसी गांव निवासी रुपेश सिंह पिछले 13 माह में करीब 22 लाख रुपये कमा चुका है। वहीं उसके अन्य चारों पार्टनर भी लाखों-लाख रुपये कमा कर बैठे हुए हैं। जनवरी 2017 को पांचों पार्टनर एक साथ रांची आए थे। इसके बाद उन लोगों ने बहुत खोजबीन के बाद होटल अवतार के मालिक से बातचीत कर कारोबार की शुरुआत की। होटल मालिक को भी प्रत्येक ग्राहक के एवज में पांच सौ रुपये मिलते थे।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस