जागरण संवाददाता, रांची। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने सरकार की ओर से आयोजित माइनिंग शो को दुकानदारी करार देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास यहां पर दुकान लगाए हुए हैं। जिसको जो लेना है वो ले ले। ये माइनिंग शो नहीं, बल्कि गुजरात चुनाव के फंड की उगाही करने के लिए सजी दुकानदारी है। इसके लिए भाजपा ने इनको टारगेट दिया है कि खदानों को जल्दी से जल्दी नीलाम करके फंड का जुगाड़ करो। इसलिए निवेशकों को बुलाकर उन्हें खदान देकर पैसे लेने के लिए माइनिंग शो का आयोजन किया गया है। इसकी जांच होनी चाहिए। सीबीआइ कोर्ट में पेश होने आए लालू रेलवे के गेस्ट हाउस में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि राज्य में भूख से मौत हो रही है। यहां आदिवासी बिरहोर जाति के लोग धीरे-धीरे समाप्त हो रहे हैं। लेकिन सरकार लोगों को अनाज नहीं दे पा रही है। राशन कार्ड को आधार से जोड़ना गलत है। सुप्रीम कोर्ट ने भी भूखों को पहले अनाज देने की बात कही है बाद में आधार से जोड़ने को कहा है। सरकार एक सड़क तो बना नहीं पा रही और नक्सलवाद के खात्मे का दावा कर रही है। लालू यादव ने कहा कि नक्सलवाद कभी खत्म नहीं होगा। एक मारा जाएगा पर दूसरा तैयार हो जाएगा।

गुजरात चुनाव में बुलाया तो जाएंगे

लालू प्रसाद यादव ने कहा कि गुजरात चुनाव में भाजपा को करारी हार मिलेगी। वहां पर कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। अगर उन्हें चुनाव में प्रचार करने के बुलाया गया तो वो जरूर गुजरात में जाकर चुनाव करेंगे। लालू प्रसाद ने कहा कि सभी 22 पार्टियों के साथ चर्चा करके आगामी आठ नवंबर को काला दिवस मनाया जाएगा। क्योंकि इसी दिन नोटबंदी की गई थी। झारखंड में भी बाबूलाल मरांडी, हेमंत सोरेन और सुखदेव भगत से भी इसको लेकर चर्चा की गई है। यहां हर जिले में काला दिवस पर जोरदार रैली निकाली जाएगी।

मोदी पर साधा निशाना

लालू प्रसाद यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछड़ी जाति के नहीं हैं। भाजपा वालों ने प्रचार कर रहे हैं कि वो ओबीसी जाति से आते हैं लेकिन ऐसा नहीं हैं। वो मोद बनिया हैं जो सवर्ण जाति में आती है। उन्होंने 2001 में घपला करके बिना कमीशन के ही इस जाति को ओबीसी की सूची में डाल दिया।

लालू बोले, सरकार पर मिलकर हमला बोलो
इससे पहल रविवार को लालू ने झारखंड के तमाम विपक्षी दलों को सरकार पर मिलकर हमला बोलने की नसीहत दी थी। उन्होंने कहा था कि संबंधित दल एक मंच पर आएं और आंदोलन की साझा रणनीति तैयार करें। उन्होंने दलों को 2019 के चुनाव को केंद्र में रखकर झारखंड के एक-एक घर में दस्तक देने तथा झारखंड सरकार की जनविरोधी नीतियों से उन्हें अवगत कराने को कहा।

चारा घोटाले के एक मामले में सोमवार को सीबीआइ कोर्ट में हाजिरी देने रविवार की शाम रांची पहुंचे लालू प्रदेश के पदाधिकारियों से मुखातिब थे। प्रदेश राजद के पदाधिकारियों ने राजद सुप्रीमो को झारखंड की मौजूदा राजनीतिक गतिविधियों से अवगत कराया।

पदाधिकारियों ने इस दौरान लालू को सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन के असफल प्रयास, भूमि अर्जन कानून से सोशल ऑडिट के प्रावधान को हटाने की कोशिश और धर्म स्वतंत्र विधेयक को लेकर उत्पन्न परिस्थितियों की जानकारी दी। लालू ने पदाधिकारियों को सरकार की विफलताओं को सूचीबद्ध करते हुए इसे जन-जन तक पहुंचाने को कहा।

आज सीबीआइ कोर्ट में होंगे उपस्थित

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद सोमवार को सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत में उपस्थित होंगे। वे दुमका कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाले की सुनवाई के दौरान अदालत में हाजिरी लगाएंगे।

झारखंड की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021