रांची : नव वर्ष के स्वागत व वर्ष-2018 को अलविदा करने के जश्न में 31 दिसंबर की रात राज्य में लोग 14.60 करोड़ रुपये की शराब गटक गए। वहीं, 30 दिसंबर को राज्य में करीब आठ करोड़ रुपये की शराब बिकी। राज्य के क्लबों, होटलों में खूब जाम से जाम टकराए। राज्य में शराब के नशे में जहां-तहां हल्की-फुल्की झड़पें भी हुई। हालांकि, नव वर्ष की सुबह होते-होते सबकुछ सामान्य हो गया था।

जिलों से प्राप्त आंकड़े

-रांची : नए साल के जश्न में 31 दिसंबर से एक जनवरी तक 2.60 करोड़ रुपये की शराब पी गए राजधानीवासी।

जमशेदपुर : 31 दिसंबर को एक करोड़ 81 लाख रुपये के शराब की बिक्री हुई। एक दिसंबर से 31 दिसंबर तक जमशेदपुर में 26 करोड़ रुपये की शराब बिकी है। जमशेदपुर में इस वर्ष अप्रैल से नवंबर तक 98 करोड़ की शराब बिकी है।

-पाकुड़ : यहां 30 दिसंबर को 10 लाख रुपये, 31 दिसंबर को 15 लाख रुपये व एक जनवरी को अबतक 10 लाख रुपये की शराब बिकी है।

-सरायकेला-खरसावां: यहां 30 दिसंबर को 25 लाख रुपये की शराब बिकी। वहीं, 31 दिसंबर की रात 40 लाख रुपये की शराब की बिक्री हुई है। एक जनवरी की दोपहर तक 18 लाख रुपये की शराब बिक चुकी थी।

- सिमडेगा : यहां 30 दिसंबर को 18 लाख रुपये, 31 दिसंबर को 20 लाख रुपये व एक जनवरी को 15 लाख रुपये की शराब बिकी है।

-लोहरदगा : यहां 30 दिसंबर को छह लाख, 31 दिसंबर को 12.5 लाख रुपये और एक जनवरी को 10 लाख रुपये की शराब की बिक्री हुई है। वर्ष 2017 में 31 दिसंबर को 13 लाख और एक जनवरी को 11 लाख रुपये की शराब की बिक्री हुई थी।

- लातेहार : यहां एक जनवरी 2018 से 31 दिसंबर 2018 तक 65.84 लाख रुपये की शराब बिकी। सिर्फ 30 दिसंबर को 6 लाख रुपये, 31 दिसंबर को 9 लाख रुपये की शराब बिकी। एक जनवरी की दोपहर तक 5.69 लाख रुपये की शराब बिक गई थी।

-गढ़वा : यहां 30 दिसंबर को 14.50 लाख रुपये, 31 दिसंबर को 28.32 लाख रुपये व एक जनवरी की दोपहर तक 18.50 लाख रुपये की शराब बिकी।

-दुमका : यहां 31 दिसंबर को 36 लाख रुपये व एक जनवरी की दोपहर तक 19 लाख की शराब की बिक्री हुई है।

-साहिबगंज : यहां 30 दिसंबर को 11 लाख रुपये, 31 दिसंबर को 14 लाख रुपये व 01 जनवरी को 8 लाख रुपये की शराब की बिक्री हुई है।

धनबाद : 30 दिसंबर को 70 लाख, 31 दिसंबर को सवा करोड़ और एक जनवरी को एक करोड़ की शराब की बिक्री हुई।

-खूंटी : यहां 30 दिसंबर को चार लाख रुपये, 31 दिसंबर को 10 लाख रुपये व एक जनवरी को पाच लाख रुपये की शराब की बिक्री हुई है।

-गिरिडीह : यहां इस वर्ष अप्रैल से दिसंबर तक 60 करोड़ 50 लाख रुपये की शराब बेची गई है। 30 दिसंबर को 26.50 लाख रुपये व 31 दिसंबर को 52 लाख रुपये की शराब बिकी है। जबकि, एक जनवरी की दोपहर तक 52 लाख रुपये की शराब बेचने का अनुमान है।

-देवघर : यहां एक अप्रैल से 31 दिसंबर तक 69.53 करोड़ रुपये की शराब बिकी है। 30 दिसंबर 34 लाख रुपये व 31 दिसंबर को 65 लाख रुपये की शराब बिकी है। जबकि, पहली जनवरी की दोपहर तक लगभग 30 लाख रुपये की शराब बिकी है।

-कोडरमा : यहां 30 दिसंबर से 1 जनवरी तक करीब 90 लाख रुपये से ज्यादा की शराब बिकी है। 31 दिसंबर की रात सबसे अधिक 41 लाख रुपये से ज्यादा की शराब बिकी है। वहीं, 30 दिसंबर को 22.90 लाख रुपये तथा एक जनवरी की दोपहर तक 25 लाख रुपये से ज्यादा रकम की शराब बिकी है। सिर्फ दिसंबर 2018 में 5.54 करोड़ की शराब बिकी है।

-पलामू : दो दिनों में 40 लाख रुपये की शराब बिकी है। यहां प्रति वर्ष 18 करोड़ की शराब की बिक्री होती है।

-बोकारो : 30 और 31 दिसंबर को 1 करोड़ 21 लाख रुपये की शराब बिकी। एक जनवरी को शाम 5 बजे तक लगभग 60 लाख रुपये की शराब बिकी।

-चाईबासा : पश्चिमी सिंहभूम जिले में 31 दिसंबर को करीब 56 लाख रुपये की शराब बिकी है। वहीं, एक जनवरी को करीब 62 लाख रुपये की शराब बिकने की सूचना मिली।

-गुमला : 31 दिसंबर की रात करीब 70 लाख रुपये मूल्य के शराब की बिक्री हुई है।

-गोड्डा : 31 दिसंबर को लगभग 30 लाख रुपये की शराब बिकी है। वहीं, एक जनवरी को करीब 20 लाख रुपये की शराब बिकी।

-बेरमो : बेरमो अनुमंडल में 31 दिसंबर से लेकर 1 जनवरी तक अधिकृत शराब दुकानों में कुल 28 लाख रुपये की शराब बिकी है।

Posted By: Jagran